Tags » Avinash Vyas

Mohe bairan nindiyaa laagi re

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 240 more words

Feelings Of Heart

एक धरती है एक है गगन - Ek Dhartee Hai Ek Hai Gagan

फ़िल्म – अधिकार (1954)
गायक/गायिका – मीना कपूर
संगीतकार – अविनाश व्यास
गीतकार – नीलकंठ तिवारी
अदाकार – किशोर कुमार, ऊषा किरण

एक धरती है एक है गगन
एक मन मेरा एक है लगन, ओ सजन

जितने अम्बर में हैं तारे
साजन मेरे संग जितने न्यारे
आ आ मेरे नैनों में उतने खिले सपन, ओ सजन
एक धरती है एक है गगन
एक मन मेरा एक है लगन, ओ सजन

ओ ओ चन्दा तोरी मैं हूँ चकोरी
जनम जनम का नाता
प्यार हमारा रोज़ गगन में
तारों के दीप जलाता
आ आ इन तारों में चमके मन की अगन, ओ सजन
एक धरती है एक है गगन
एक मन मेरा एक है लगन, ओ सजन

चाहे टूटे जीवन बीन
चाहे टूटे तार पिया
लेकिन कभी न टूटे मन की
मधुर मधुर झनकार पिया
ओ ओ पिया छोटे न अपना ये बन्धन, ओ सजन
एक धरती है एक है गगन
एक मन मेरा एक है लगन, ओ सजन

Solo Song

तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली - Tere Dvar Khada Bhagvaan

फिल्मः वामन अवतार (1955)
गायक/गायिकाः प्रदीप
संगीतकारः अविनाश व्यास
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः त्रिलोक कपूर, निरुपा रॉय

तेरे द्वार खड़ा भगवान हो
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली – 2
तेरा होगा बड़ा एहसान कि जुग-जुग तेरी रहेगी शान
भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

डोल उठी है सारी धरती देख रे, डोला गगन है सारा – 2
भीख माँगने आया तेरे घर, जगत का पालनहारा रे
जगत का पालनहारा
मैं आज तेरा मेहमान, कर ले रे मुझसे ज़रा पहचान

भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

आज लुटा दे रे सरबस अपना मान ले कहना मेरा – 2
मिट जायेगा पल में तेरा जनम-जनम का फेरा रे
जनम-जनम का फेरा
तू छोड़ सकल अभिमान, अमर कर ले रे तू अपना दान

भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

Solo Song

पिंजरे के पंछी रे, तेरा दर्द ना जाने कोए - Pinjre Ke Panchhi Re

फिल्मः नागमणि (1957)
गायक/गायिकाः प्रदीप
संगीतकारः अविनाश व्यास
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः एस. एन. त्रिपाठी, निरुपा रॉय

पिंजरे के पंछी रे, तेरा दर्द ना जाने कोए (२)

कह ना सके तू, अपनी कहानी
तेरी भी पंछी, क्या ज़िंदगानी रे
विधि ने तेरी कथा लिखी आँसू में कलम डुबोए
तेरा दर्द …

चुपके चुपके, रोने वाले
रखना छुपाके, दिल के छाले रे
ये पत्थर का देश हैं पगले, यहाँ कोई ना तेरा होय
तेरा दर्द …

Solo Song

Mohe apna bana ke gaya bhool re pardesi baalam

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 374 more words

Feelings Of Heart