Tags » Devotional Song

नैन हीन को राह दिखा प्रभू - Nainheen Ko Raah Dikha Prabhu

फिल्मः भक्त सूरदास (1942)
गायक/गायिकाः के. एल. सहगल
संगीतकारः ज्ञानदत्त
गीतकारः डी. एन. मधोक
कलाकारः के. एल. सहगल

नैन हीन को राह दिखा प्रभू (2)
पग-पग ठोकर खाऊँ मैं
नैन हीन को राह दिखा प्रभू पग-पग ठोकर खाऊँ मैं
नैन हीन को

तुम्हरी नगरिया की कठिन डगरिया (2)
चलत चलत गिर जाऊँ मैं, प्रभू
नैन हीन को राह दिखा प्रभू पग-पग ठोकर खाऊँ मैं
नैन हीन को राह दिखा प्रभू

चहूँ ओर मेरे घोर अंधेरा भूल ना जाऊँ द्वार तेरा (2)
एक बार प्रभू हाथ पकड़ लो (3)
मन का दीप जलाऊँ मैं
प्रभू -
नैन हीन को राह दिखा प्रभू पग-पग ठोकर खाऊँ मैं
नैन हीन को

Solo Song

तेरे मन्दिर का हूँ दीपक जल रहा - Tere Mandir Ka Hoon Deepak

फिल्मः गैर-फिल्मी (1940)
गायक/गायिकाः पंकज मलिक
संगीतकारः पंकज मलिक
गीतकारः
कलाकारः

तेरे मन्दिर का हूँ दीपक जल रहा
आग जीवन में मैं भर कर जल रहा, जल रहा
तेरे मन्दिर का हूँ दीपक जल रहा

क्या तू मेरे दर्द से अन्जान है
तेरी मेरी क्या नयी पहचान है
जो बिना पानी बताशा ढल रहा
आग जीवन में मैं भर कर …

इक झलक मुझ को दिखा दे साँवरे, साँवरे
मुझ को ले चल तू कदम की छाँव रे, साँवरे
और छलिया आ आ आ
और छलिया क्यों मुझे तू छल रहा
आग जीवन में मैं भर कर …

मैं पथिक मद बाँसुरी की बाँछता
एक धुन से सौ तरह से नाचता
आँख से जमुना का पानी डल रहा
आग जीवन में मैं भर कर …

Solo Song

तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली - Tere Dvar Khada Bhagvaan

फिल्मः वामन अवतार (1955)
गायक/गायिकाः प्रदीप
संगीतकारः अविनाश व्यास
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः त्रिलोक कपूर, निरुपा रॉय

तेरे द्वार खड़ा भगवान हो
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली – 2
तेरा होगा बड़ा एहसान कि जुग-जुग तेरी रहेगी शान
भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

डोल उठी है सारी धरती देख रे, डोला गगन है सारा – 2
भीख माँगने आया तेरे घर, जगत का पालनहारा रे
जगत का पालनहारा
मैं आज तेरा मेहमान, कर ले रे मुझसे ज़रा पहचान

भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

आज लुटा दे रे सरबस अपना मान ले कहना मेरा – 2
मिट जायेगा पल में तेरा जनम-जनम का फेरा रे
जनम-जनम का फेरा
तू छोड़ सकल अभिमान, अमर कर ले रे तू अपना दान

भगत भर दे रे झोली
तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली
ओ भगत भर दे रे झोली

Solo Song

मुखड़ा देख ले प्राणी ज़रा दरपन - Mukhda Dekh Le Prani

फिल्मः दो बहन (1959)
गायक/गायिकाः प्रदीप
संगीतकारः वसंत देसाई
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः राजेंद्र कुमार, श्यामा

मुखड़ा देख ले, देख ले
मुखड़ा देख ले प्राणी ज़रा दरपन में हो
देख ले कितना पुण्य है कितना पाप तेरे जीवन में
देख ले दरपन में
मुखड़ा देख ले प्राणी ज़रा दरपन में

कभी तो पल भर सोच ले प्राणी, क्या है तेरी करम कहानी -२
पता लगा ले
पता लगा ले पड़े हैं कितने दाग़ तेरे दामन में
देख ले दरपन में
मुखड़ा देख ले प्राणी ज़रा दरपन में

ख़ुद को धोखा दे मत बन्दे, अच्छे न होते कपट के धन्धे -२
सदा न चलता
सदा न चलता किसी का नाटक दुनिया के आँगन में
देख ले दरपन में
मुखड़ा देख ले प्राणी ज़रा दरपन में हो
देख ले कितना पुण्य है कितना पाप तेरे जीवन में
देख ले दरपन में
मुखड़ा देख ले प्राणी

Solo Song

देख तेरे संसार की हालत क्या हो गई भगवान - Dekh Tere Sansar Ki Haalat

फिल्मः नास्तिक (1954)
गायक/गायिकाः प्रदीप
संगीतकारः सी. रामचंद्र
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः अजीत, नलिनी जयवंत

देख तेरे संसार की हालत क्या हो गई भगवान
कितना बदल गया इनसान कितना बदल गया इनसान
सूरज न बदला चांद न बदला ना बदला रे आसमान
कितना बदल गया इनसान कितना बदल गया इनसान

आया समय बड़ा बेढंगा
आज आदमी बना लफ़ंगा
कहीं पे झगड़ा कहीं पे दंगा
नाच रहा नर हो कर नंगा
छल और कपट के हाथों अपना
बेच रहा ईमान, कितना …

राम के भक्त रहीम के बंदे
रचते आज फ़रेब के फंदे
कितने ये मक्कर ये अंधे
देख लिये इनके भी धंधे
इन्हीं की काली करतूतों से
बना ये मुल्क मशान, कितना …

जो हम आपस में न झगड़ते
बने हुए क्यों खेल बिगड़ते
काहे लाखों घर ये उजड़ते
क्यों ये बच्चे माँ से बिछड़ते
फूट-फूट कर क्यों रोते
प्यारे बापू के प्राण, कितना …

Solo Song

तेरे द्वार खड़ा एक जोगी - Tere Dwar Khada Ek Jogi

फिल्मः नागिन (1954)
गायक/गायिकाः हेमंत कुमार
संगीतकारः हेमंत कुमार
गीतकारः राजेंद्र कृष्ण
कलाकारः प्रदीप कुमार, वैजंतीमाला

काशी देखी, मथुरा देखी, देखे तीरथ सारे
कहीं न मन का मीत मिला तो आया तेरे द्वारे

तेरे द्वार खड़ा एक जोगी – 2
न माँगे यह सोना चाँदी माँगे दर्शन देवी
तेरे द्वार …

(दुनिया से मुख मोड़ा तेरे लिये जग छोड़ा
छोड़ दिया घर-बार) – 2
बन-बन छाना मैंने, तुझे देवी माना मैंने
सुन ले मेरी पुकार – 2
न माँगे यह सोना चाँदी माँगे दर्शन देवी
तेरे द्वार …

(करके जतन आया, मन में अगन लाया
अखियों में दर्शन-प्यास) – 2
प्रीत की शिक्षा, प्रेम की दीक्षा
माँग रहा यह दास – 2
न माँगे यह सोना चाँदी माँगे दर्शन देवी
तेरे द्वार …

Solo Song

जगत भर की रोशनी के लिये - Suraj Re Jalte Rahna

फिल्मः हरिश्चंद्र-तारामती (1963)
गायक/गायिकाः हंमेत कुमार
संगीतकारः लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकारः प्रदीप
कलाकारः पृथ्वीराज कपूर, जयमाला

जगत भर की रोशनी के लिये
करोड़ों की ज़िंदगी के लिये
सूरज रे जलते रहना
सूरज रे जलते रहना …

जगत कल्याण की खातिर तू जन्मा है
तू जग के वास्ते हर दुःख उठा रे
भले ही अंग तेरा भस्म हो जाये
तू जल जल के यहँ किरणें लुटा रे

लिखा है ये ही तेरे भाग में
कि तेरा जीवन रहे आग में
सूरज रे …

करोड़ों लोग पृथ्वी के भटकते हैं
करोड़ों आँगनों में है अँधेरा
अरे जब तक न हो घर घर में उजियाला
समझ ले अधूरा काम है तेरा

जगत उद्धार में अभी देर है
अभी तो दुनियाँ मैं अन्धेर है
सूरज रे …

Solo Song