बिना डिस्टेंस एजुकेशन कैसे बनेगा स्कील इंडिया- डॉ राजन चोपड़ा

दिल्ली यूनिवर्सिटी में चार साल के कोर्स को लेकर देशभर में हंगामा मचा। मंत्रालय से लेकर देशभर के बुद्धिजीवियों और मीडिया में इस बात को लेकर खूब बहस हुई। किसी ने इसे सही बताया तो किसी ने गलत। खैर अच्छी बात ये हुई कि सबकुछ देश के शासकों के मनमुताबिक ही हुआ जैसा आजादी के बाद होता रहा है।  दिल्ली यूनिवर्सिटी की एकेडमिक और एग्ज्यूक्टिव काउंसिल ने चार साल के कोर्स को तीन साल में तब्दील करने की मंजूरी दे दी। 16 more words