Tags » Geeta

To be egoless does not means to be Inactive

how could society function, if thoughtlessness would be a permanent condition and in activity would prevail ? would society fall apart ?
Bhagawan: to be ego less does not mean that you become inactive. 101 more words

Hindu Diety

भगवदर्थ कर्म तथा भगवान की दया

समस्त प्राणी, पदार्थ, क्रिया और भाव का सम्बन्ध भगवान के साथ जोड़ कर साधन करने से साधक के ह्रदय में उत्साह, समता, प्रसन्नता, शान्ति और भगवान् की स्मृति सब समय रह सकती है | इससे भगवान् में परम श्रद्धा-प्रेम हो जाता है एवं भगवान् की प्राप्ति सहज में हो सकती है | ‘जो कुछ भी है , सब भगवान् का है और मैं भी भगवान् का हूँ, भगवान् सबमे व्यापक है (गीता १८ | ४६), इसलिए सबकी सेवा ही भगवान् की सेवा है; में जो कुछ कर रहा हूँ, वह सब कुछ भगवान् की प्रेरणा के अनुसार भगवान् के लिए ही कर रहा हूँ ,‘भगवान् ही मेरे परम प्यारे और परम हितैषी है’ – इस प्रकार के भाव से अपने घर या दूकान के काम को अथवा किसी भी धार्मिक संस्था के काम को अपने प्यारे भगवान् का ही काम समझ कर और स्वयं भगवान् का ही होकर काम करने से साधक को कभी उकताहट नहीं होती,प्रत्येक चित में धैर्य, उत्साह, प्रसन्नता और शांन्ति उत्तरोतर बढती रहती है | यदि नहीं बढती तो गंभीरता पूर्वक विचार करना चाहिये कि इसमें क्या कारण है ? 35 more words

Hindi

The truth can not br taught

A man came to libnani a sufi teacher
man: I wish to learn will you teach me
libnani: I do not feel that you know how to learn… 45 more words

Meditation

कर्मयोग -९

निष्काम कर्मयोगी पवित्र और एकान्त स्थान में स्थित होकर भी शरीर, इन्द्रिय और मन को स्वाधीन किये हुए परमात्मा की शरण हुआ प्रशान्त और एकाग्र मन से श्रद्धा और प्रेमपूर्वक परमात्मा का ध्यान करता है । 32 more words

Hindi

Control 5 Senses and observe your mind

bhagawad gita 6:34: arjuna uvacha
The mind is erratic, disturbed, very powerful and stubborn. Oh krishna, I think that to control it is as difficult as trying to control the wind. 177 more words

Meditation

Problem is not ignorance but resistance

man is ignorant ,blind, as if living in sleep,drunk, not aware. This has always been so. Many cures have been invented, many methods to awaken him. 88 more words

Meditation