Tags » Hasrat Jaipuri

मुझ को इस रात की तनहाई में आवाज़ न दो - Mujhko Is Raat Ki Tanhai Men

फिल्मः दिल भी तेरा हम भी तेरे (1960)
गायक/गायिकाः मुकेश
संगीतकारः कल्याणजी-आनंदजी
गीतकारः हसरत जयपुरी
कलाकारः धर्मेंद्र, ऊषा किरण

मुझ को इस रात की तनहाई में आवाज़ न दो
जिसकी आवाज़ रुला दे मुझे वो साज़ न दो
आवाज़ न दो…

मैंने अब तुम से न मिलने की कसम खाई है
क्या खबर तुमको मेरी जान पे बन आई है
मैं बहक जाऊँ कसम खाके तुम ऐसा न करो
आवाज़ न दो…

दिल मेरा डूब गया आस मेरी टूट गई
मेरे हाथों ही से पतवार मेरी छूट गई
अब मैं तूफ़ान में हूँ साहिल से इशारा न करो
आवाज़ न दो…

रौशनी हो न सकी लाख जलाया हमने
तुझको भूला ही नहीं लाख भुलाया हमने
मैं परेशां हूँ मुझे और परेशां न करो
आवाज़ न दो…

किस कदर रोज़ किया मुझसे किनारा तुमने
कोई भटकेगा अकेला ये न सोचा तुमने
छुप गए हो तो कभी याद ही आया न करो
आवाज़ न दो…

Solo Song

अजब है दास्ताँ तेरी ऐ ज़िंदगी - Ajab Hai dastan Teri Aye Zindagi

फ़िल्म – शरारत (1959)
गायक/गायिका – मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार – शंकर-जयकिशन
गीतकार – हसरत जयपुरी
अदाकार – राज कुमार, मीना कुमारी

अजब है दास्ताँ तेरी ऐ ज़िंदगी
कभी हँसा दिया रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ तेरी ऐ ज़िंदगी

तुम आई माँ की ममता लिये तो मुस्कुराये हम
के जैसे फिर से अपने बचपन में लौट आये हम
तुम्हारे प्यार के
इसी आँचल तले
फिर से दीपक जले
ढला अंधेरा जगी रोशनी
अजब है दास्ताँ …

मगर बड़ा है संगदिल है ये मालिक तेरा जहाँ
यहाँ माँ बेटो पे भी लोग उठाते है उंगलियाँ
कली ये प्यार की
झुलस के रह गई
हर तरफ़ आग थी
हँसाने आई थी रुलाकर चली
अजब है दास्ताँ …

Solo Song

हम मतवाले नौजवाँ, मंज़िलों के उजाले - Hum Matwale Naujawan

फ़िल्म – शरारत (1959)
गायक/गायिका – किशोर कुमार
संगीतकार – शंकर-जयकिशन
गीतकार – हसरत जयपुरी
अदाकार – किशोर कुमार, राज कुमार, मीना कुमारी

हम मतवाले नौजवाँ, मंज़िलों के उजाले
लोग करे बदनामी, कैसे ये दुनिया वाले
करे भलाई हम, बुरे बनें हर दम
इस जहाँ की, रीत निराली
प्यार को समझे, हाय रे हाय सितम
हम मतवाले नौजवाँ …

हम धूल में लिपटे सितारे, हम ज़र्रे नहीं हैं अंगारे
नादाँ है जहाँ, समझेगा कहाँ, हम नौजवाँ के इशारे
जब जब झूम के निकले हम, जान के पड़ जायें लाले
लोग करें बदनामी, कैसे ये दुनिया वाले
हम मतवाले नौजवाँ …

हम रोते दिलों को हँसा दें, दुख ददर् की आग बुझा दें
बेचैन नज़र, बेताब जिगर, हम सबको को गले से लगा लें
हम मन मौजी शहज़ादे, दुखियों के रखवाले
लोग करें बदनामी, कैसे ये दुनिया वाले
करें भलाई हम, बुरे बने हर दम
इस जहां की, रीत निराली,
प्यार को समझे, हाय रे हाय सितम

हम मतवाले नौजवाँ, मंज़िलों के उजाले
लोग करें बदनामी, कैसे ये दुनिया वाले

Solo Song

Haaye ghabraaye re bin tere mera dil

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 416 more words

Feelings Of Heart

Kaanha na chhedo na chhedo baansuri

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 588 more words

Lyrics Contributed By Readers

ये क्या कर डाला तू ने दिल तेरा हो गया - Ye Kya Kar Dala Tune

फ़िल्म – हावड़ा ब्रिज (1958)
गायक/गायिका – आशा भोंसले
संगीतकार – ओ. पी. नय्यर
गीतकार – हलरत जयपुरी
अदाकार – अशोक कुमार, मधुबाला

ये क्या कर डाला तूने दिल तेरा हो गया
हँसी हँसी में ज़ालिम दिल मेरा खो गया

वो खेल दिखाया तूने मद्होश बनाया तूने
ओ जादूगर मतवाले, बेछैन बनाया तूने
तूने रे पिया, कैसा दिया, नज़रों का पैमाना
ये क्या कर डाला तूने दिल तेरा हो गया …

जब आँख मिले शर्माऊँ मैं खोयी खोयी जाऊँ
आँखों की कलियाँ काम्पे जब सामने तुझ को पाऊँ
सुन मेरे दिल, सपनों में मिल, दर्द हुआ दीवाना
ये क्या कर डाला तूने दिल तेरा हो गया …

पहले था ज़माना फीका अब लागे थीका थीका
मौसम का दिल भी धड़के कुछ हाल न पूछो जी का
मैं भी यहाँ तू भी यहाँ प्यार से प्यार सजाना
ये क्या कर डाला तू ने दिल तेरा हो गया …

Solo Song

मैंने जो ली अंगड़ाई धीरे से मुस्काई - Maine Jo Li Angdai

फ़िल्म – जागते रहो (1956)
गायक/गायिका – संध्या मुखर्जी
संगीतकार – सलिल चौधरी
गीतकार – हसरत जयपुरी
अदाकार – मोतीलाल

लोशे वाई वाई हो लोशे वाई वाई

मैंने जो ली अंगड़ाई धीरे से मुस्काई
तेरी महफिल से सदा ये आई

मैं अकेली लाखों दीवाने दिल के
बन संवर के जाती हैं नज़रें मिलके जी मिलके जी मिलके
देख लो मेरी छोटी सी जान पे कैसी ये आफ़त आई रे
मैंने जो ली अंगड़ाई धीरे से मुस्काई
तेरी महफिल से सदा ये आई

गाल गुलाबी आंखें मेरी नीलम की
मैं हंसी तो लोग ये समझे कि बिजली चमकी रे चमकी रे चमकी
मेरी लट लहराई के जैसे काली घटा लहराई रे
मैंने जो ली अंगड़ाई धीरे से मुस्काई
तेरी महफिल से सदा ये आई

Solo Song