Tags » Mahatma Gandhi

~Breast Cancer Awareness rubber ducks ~

~October is Breast Cancer Awareness~

“The first wealth is health.”
~Ralph Waldo Emerson~

“It is health that is real wealth and not pieces of gold and silver.” 12 more words

INTERESTS

Thought for today october 19th 2014

Non-cooperation with evil is as much a duty
as is cooperation with good.

Photography Credit

artfreelancelife:

Alberto Di Donato‎

Nature

Mohandas Karamchand Gandhi - 10 quotes

“Be the change you want to see in the world.” – Mahatma Gandhi

Mohandas Karamchand Gandhi, better known as Mahatma Gandhi.
famous for leading the Indian nation to independence in peace, an inspirational figure to this day over 60 years after his death in 1948.

253 more words
Musings

स्वच्छता अभियान : निर्मल भारत की ओर एक कदम

पिछले कुछ दिनों से हम भारत में स्वच्छता अभियान की बातें सुन रहे हैं । यह अभियान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिवस पर श्रीमान नरेंद्र मोदी जी ने प्रारम्भ किया है । यह अभियान नागरिकों की मानसिकता को परिवर्तित करने का अनोखा तरीका साबित हो सकता है , यदि सही से कार्यान्वित किया जाय ।

भारत की जो विश्व भर में साफ सफाई को लेकर छवि है , वह विचार करने योग्य है । इसका कारण हम सभी नागरिक हैं । हम अपने घर साफ स्वच्छ रखना चाहते हैं , परन्तु सार्वजानिक स्थलों को जैसे कूड़ा-खाना ही समझते हैं । सार्वजानिक स्थलों को स्वच्छ रखना भी हम नागरिकों का कर्तव्य है , जब हम यह बात अपने मस्तिष्क में बैठा लेंगे , तब जाकर प्रधानमंत्री जी के स्वच्छता अभियान को सफलता मिलेगी ।

एक घटना, इसी तथ्य जुड़ी हुई , कहीं पढ़ रहा था मैं । एक भारतीय महानुभाव एक बार पेरिस की यात्रा पर गए परन्तु भारतीय लक्षणों को भारत में न छोड़ सका । सड़क पर चलते चलते एक बार किसी वस्तु के पैकेट को यूँ ही सड़क पर फेंक दिया । उधर से एक महानुभाव ने बड़ी ही सहज़ता से उसे उठाकर कूड़ेदान में डाला और उन्होंने यह कार्य उतनी ही ख़ुशी और सहज़ता से किया , कि जैसे यह उनका दैनिक कार्य हो । हमें इन बातों , इन कथाओं , इन घटनाओं से सीख लेनी चाहिए । एतैव तातपर्य यह ही है कि हमें अपने विचारों को बदलकर देश के हित में सोचना होगा ।

और सिर्फ समस्या स्वच्छता की ही नहीं है , कूड़ा निस्तारण की भी है। कैसे और कहाँ , साफ़ सफाई से निकले कूड़े को रखा जाय ? कैसे इसे प्रयोग किया जाय ? भारत में इसकी भी बड़ी समस्या है । प्रधानमंत्री जी को स्वच्छता अभियान के साथ साथ solid waste management पर भी कार्य करने की आवश्यकता है ।

विभिन्न देश कूड़े का उपयोग उर्वरक तथा बिज़ली उत्पादन में कर रहें हैं , भारत में कही भी ऐसा बड़ा सयंत्र नहीं है । बल्कि यहाँ कूड़े को शहरों के बाहर एक बड़े स्थान पर डम्प करते हैं । इन डंपिंग प्लेसेस के आस पास रहने वाले लोगों में कूड़े के ढेर की वजह से विभन्न प्रकार की बीमारियां फैलती हैं । वहां की उपजाऊ जमीन , रिसने वाले द्रव्य के कारण बंजर भूमि में बदल रही है । ये केवल तथ्य नहीं है , इन बातों के ठोस आकड़ें मौजूद हैं । विभिन्न संस्थाएं जैसे उनिसेफ के सर्वै में ये आकड़ें हमें रोज़ ही दीख पड़ते हैं । अतः प्रधानमंत्री जी से मेरा निवेदन है कि इस ओर भी अपना ध्यान आकर्षित करें ।

Ankur Shukla

Can You, Do You Forgive Your Employees?

Last week my post was entitled, “Do You Owe Someone An Apology?” We looked at the benefits of seeking forgiveness. This week we look at the benefits of giving forgiveness. 562 more words

Leadership

This & That

(1) it may be hard for an egg to turn into a bird; it would be a jolly sight harder for it to learn to fly — while remaining an egg.  541 more words

Quotes

Every Man's Need

“Earth provides enough to satisfy every man’s need,

but not every man’s greed.”

- Mahatma Gandhi

Quotes