Tags » Save Girl Child

अजन्मी कन्या की पुकार

माँ मुझे मत मार तेरी अजन्मी कन्या करे पुकार
तू जननी है करुणामयी होने देगी कैसे अत्याचार
यह बात हूँ जानकर मै अत्यंत बेहाल
जाने वाली है छुटकारा पाने तू अस्पताल
यह कैसे मेरी माँ तू होने देगी
मेरी नाजुक शारीर में नश्तर चुभोने देगी
लिख नहीं सकती नहीं सकती हूँ मै बोल
रहने दे मुझे अपने में मन की आंखे खोल
एक गोली लेने से मै जाउंगी तुमसे निकल
गिले हांथो से जिस तरह साबुन जाती है फिशल
तेरे आँगन में छम छम खेलु यही अरमान
देखूं मै भी अपनी आँखों से धरती और आसमान
न मांगूंगी नए पायल नए वसन
खाके रह लुंगी पड़ी भैया दीदी के जूठन
तुझ पर न बोझ बनूँगी न बढ़ाउंगी तेरा खर्चा
खुद से करुँगी पढाई अच्छा बनाउंगी पर्चा
दहेज़ की तू चिंता न कर कुछ बन कर दिखाउंगी
मिल जायेगा अच्छा वर खर्च तेरा न बढ़ाउंगी
उड़ जाउंगी तेरे आंगन से पराई होकर
याद करेगी मुझे तब तू रो रोकर
माँ मुझे आने दे दुनिया में बसने दे घर संसार
Like us on Facebook

The other side of my country!

The first cry of a newborn baby, the opening of innocent but curious little eyes, aren’t these sights of extreme joy and excitement! So why is this overwhelming experience snatched from many? 312 more words

Articles

Breaking Free

It was the same day, the same me, the same earth, the same sky, but I felt like a bird, a bird who could fly high up in the sky, who could soar up and down with the wind, it was my first flight, my first step out of the cage. 365 more words

Writings