Tags » Shakeel Badayuni

चाँद छुपा और तारे डूबे रात ग़ज़ब की आई - Husn Chala Hai Ishq Se Milne

फिल्मः सोहनी-महिवाल (1958)
गायक/गायिकाः महेंद्र कपूर
संगीतकारः नौशाद
गीतकारः शकील बदायूंनी
कलाकारः भारत भूषण, निम्मी

चाँद छुपा और तारे डूबे रात ग़ज़ब की आई
हुस्न चला है इश्क़ से मिलने ज़ुल्म की बदली छाई

टूट पड़ी है आँधी ग़म की, आज पवन है पागल
काँप रही है धरती सारी, चीख रहे हैं बादल
दुनिया के तूफ़ान हज़ारों, हुस्न की इक तनहाई

मौत की नागन आज खड़ी है राह में फन फैलाये
जँगल-जँगल नाच रहे हैं शैतानों के साए
आज ख़ुदा खामोश है जैसे भूल गया हो ख़ुदाई

घोर अँधेरा मुश्किल राहें, कदम-कदम पे धोखे
आज मोहब्बत रुक न सकेगी, चाहे ख़ुदा भी रोके
राह-ए-वफ़ा में पीछे हटना, प्यार की है रुस्वाई

पार नदी के यार का डेरा, आज मिलन है तेरा
ओढ़ ले तू लेहरों की चुनरी बाँध ले मौज का सेहरा
डोले में मँझधार के होगी आज तेरी विदाई

डूब के इन ऊँची लेहरों में नैय्या पार लगा ले
उल्फ़त के तूफ़ान में ज़िन्दा रहते हैं मरने वाले
जीते-जी संसार में किसने प्यार की मंज़िल पायी

तेरे दिल के खून से होगा लाल चेनाब का पानी
दुनिया की तारीख में लिखी जायेगी येह क़ुर्बानी
सोहनी और महिवाल ने अपनी इश्क़ में जान गँवायी

Solo Song

सर जो तेरा चकराये, या दिल डूबा जाये - Sar Jo Tera Chakraye

फ़िल्म – प्यासा (1957)
गायक/गायिका – मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार – एस. डी. बर्मन
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – जॉनी वाकर

सर जो तेरा चकराये, या दिल डूबा जाये
आजा प्यारे पास हमारे, काहे घबराय, काहे घबराय

(तेल मेरा है मुस्की, गन्ज रहे न खुस्की
जिस के सर पर हाथ फिरा दूँ, चमके किस्मत उसकी ) – 2
सुन सुन सुन, अरे बेटा सुन, इस चम्पी में बड़े बड़े गुन
लाख दुखों की एक दवा है, क्यूँ ना आज़माये
कहे घबराये, कहे घबराये
सर जो तेरा …

(प्यार का होवे झगड़ा, या बिज़िनेस का हो रगड़ा
सब लफ़ड़ों का बोझ हटे जब पड़े हाथ इक तगड़ा ) – 2
सुन सुन सुन, अरे बाबू सुन, इस चम्पी में बड़े बड़े गुन
लाख दुखों की एक दवा है, क्यूँ ना आज़माये
कहे घबराये, कहे घबराये
सर जो तेरा …

(नौकर हो या मालिक, लीडर हो या पबलिक
अपने आगे सभी झुकें हैं, क्या राजा क्या सैनिक ) – 2
सुन सुन सुन, अरे बेटा सुन, इस चम्पी में बड़े बड़े गुन
लाख दुखों की एक दवा है, क्यूँ ना आज़माये
कहे घबराये, कहे घबराये
सर जो तेरा …

Solo Song

नगरी-नगरी द्वारे-द्वारे ढूँढूँ रे सांवरिया - Nagri-nagri Dware-dware

फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – लता मंगेशकर
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – नरगिस

नगरी-नगरी द्वारे-द्वारे ढूँढूँ रे सांवरिया
पीया-पीया रटते-रटते हो गई रे बाँवरिया 6 more words

Solo Song

चुंदरिया कटती जाये रे, उमरिया घटती जाये रे - Chundariya Katati Jaye Re

फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – मन्ना डे
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – राज कुमार, नरगिस

चुंदरिया कटती जाये रे
उमरिया घटती जाये रे
काम कठन जीवन थोड़ा
काम कठन है रे
काम कठन जीवन थोड़ा
पगला मन घबराये
चुंदरिया कटती जाये रे
उमरिया घटती जाये रे

दुख-दर्द सहें बनजारे भइया
धूप में देखें तारे
दिन-रात बहायें पसीना हम
कुछ हाथ न आये हमारे – 2
हमरी सारी मेहनत माया
ठगवा ठग ले जाये
चुंदरिया कटती जाये रे…

धरती पे कितने बारा-मासे
बीत गये रे आ के रामा
बीत गये रे आ के
दुनिया के लिये है लीला तेरी
हमरे भाग में फाँके रामा
हमरे भाग में फाँके
कागज हो तो बाँच लूँ रामा
भाग न बाँचो जाये
चुंदरिया कटती जाये रे…

संसार में तेरे लूट मची
और जान के पड़ गये लाले – 2
अब रोक जनम की चक्की रे – 2
संसार चलाने वाले – 2
काल पड़ा है रोटी का और
दुनिया बढ़ती जाये
चुंदरिया कटती जाये रे…

Solo Song

दुःख भरे दिन बीते रे भैया - Dukh Bhare Din Beete Re Bhaiya

फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – मोहम्मद रफ़ी, मन्ना डे, आशा भोंसले, शमशाद बेगम
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – नरगिस, राज कुमार, सुनील दत्त, राजेंद्र कुमार

(दुःख भरे दिन बीते रे भैया अब सुख आयो रे
रंग जीवन में नया लायो रे) – 2
होय होय दुःख भरे दिन बीते रे भैया, बीते रे भैया

देख रे घटा घिरके आई रस भर-भर लाई – 2
ओ घटा घिरके आई, हो
छेड़ ले गोरी मन की बीना रिमझिम रुत छाई – 2
ओ घटा घिरके आई
प्रेम की गागर लाए रे बादर बेकल मोरा जिया होय – 2
दुःख भरे दिन बीते रे भैया …

मधुर-मधुर मनवा गाए अपने भी दिन आए – 2
ओ मधुर मनवा गाए, हो
सावन के संग आए जवानी सावन के संग जाए, ओ – 2
ओ मधुर मनवा गाये, हो
आज तो जी भर नाच ले पागल कल न जाने रे क्या होये – 2
दुःख भरे दिन बीते रे भैया

Duet/Group Song

होली आयी रे कन्हाई - Holi Aai Re Kanhai

फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – शमशाद बेगम
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – राज कुमार, नरगिस, सुनील दत्त

होली आयी रे कन्हाई, होली आयी रे
होली आयी रे कन्हाई
रंग छलके सुना दे ज़रा बांसरी
होली आयी रे, आयी रे, होली आयी रे

बरसे गुलाल रंग मोरे आंगनवा
अपने ही रंग में रंग दे मोहे सजनवा
हो देखो नाचे मोरा मनवा
तोरे कारन घरसे आई, तोरे कारन हो
तोरे कारन घरसे आई
हूँ निकलके सुना दे ज़रा बांसरी
होली आयी रे कन्हाई
रंग छलके सुना दे ज़रा बांसरी
होली आयी रे, आयी रे, होली आयी रे

छुटे ना रंग ऐसी रंग दे चुनरिया
धोबन ये धोये चाहे सारी उमरिया
हो मन को रंग देगा साँवरिया
छुटे ना रंग ऐसी रंग दे चुनरिया, जी
रंग दे चुनरिया
धोबन ये धोये चाहे सारी उमरिया
मोहे भाये ना हरजाई, मोहे भाये ना
मोहे भाये ना हरजाई
रंग हलके सुना दे ज़रा बांसरी
होली आयी रे कन्हाई
रंग छलके सुना दे ज़रा बांसरी
होली आयी रे, आयी रे, होली आयी रे

Romantic Song

गाड़ी वाले गाड़ी धीरे हाँक रे - Gadi Wale Gadi Dheere Haank Re

फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – मोहम्मद रफ़ी, शमशाद बेगम
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – सुनील दत्त, कुमकुम

खट-खुट करती छम-छुम करती 7 more words

Romantic Song