यह षड्यंत्र किसका, और किसलिये?

 -मा. गो़ वैद्य -

 समझौता एक्सप्रेस, अजमेर दरगाह और मक्का मस्जिद (हैदराबाद) बम विस्फोट मामले में एक आरोपी, स्वामी असीमानंद , जो अभी हरियाणा की अम्बाला जेल में बंद हैं, के एक कथित बयान ने हंगामा खड़ा कर दिया। उस कथित बयान में असीमानंद ने यह कहा बताया गया, कि समझौता एक्सप्रेस, अजमेर शरीफ आदि स्थानों पर जो बम धमाके हुये उनके लिये, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वर्तमान सरसंघचालक, जो उस समय संघ के सरकार्यवाह थे, श्री मोहनराव भागवत और संघ के केन्द्रीय कार्यकारी मण्डल के एक सदस्य श्री इन्द्रेश कुमार से परामर्श हुआ था और उन्हीं की प्रेरणा से ये धमाके किये गये थे। असीमानंद का यह कथन, ह्यकारवांह्ण नामक अंग्रेजी पत्रिका के 1 फरवरी 2014 के अंक में प्रकाशित हुआ है। यह बयान लीना गीता रघुनाथ नामक संवाददाता को दिये साक्षात्कार का हिस्सा बताया गया है। रा़ स्व़ संघ हिंसात्मक कारवाइयों का पक्षधर है, यह बताना ही इस तथाकथित लेख का मकसद है। 330 more words