फ़िल्म – मदर इंडिया (1957)
गायक/गायिका – लता मंगेशकर, ऊषा मंगेशकर
संगीतकार – नौशाद
गीतकार – शकील बदायूंनी
अदाकार – नरगिस, राज कुमार, सुनील दत्त, राजेंद्र कुमार

दुनिया में हम आये हैं तो जीना ही पड़ेगा
जीवन है अगर ज़हर तो पीना ही पड़ेगा
दुनिया …

गिर गिर के मुसीबत में सम्भलते ही रहेंगे
जल जाएं मगर आग पे चलते ही रगेंगे
ग़म जिसने दिये हैं बही ग़म दूर करेगा
दुनिया …

औरत है वही औरत जिसे दुनिया की शर्म है
संसार में बस लाज ही नारी का धर्म है
ज़िन्दा है जो इज़्ज़त से वही इज़्ज़त से मरेगा
दुनिया …

मालिक है तेरे साथ न डर ग़म से तू ये दिल
मेहनत करे इन्सान तो क्या काम है मुश्किल
जैसा जो करेगा यहाँ वैसा ही भरेगा
दुनिया …