Tags » Vinay

Unfounded - Guest Post by Vinay

… My eyes began to burn, and pushing some benches out of the way, I got up in his face. I reached for his neck, but I felt myself being pulled back by my friends. 7 more words

Guest Authors

New School

V1 has been at his new school for nearly three weeks now. It’s been a lot for him to get used to – longer days, new teacher, new friends, etc. 397 more words

Parenting

Smile please

A studio portrait from the 1970s of Dada’s brother Mulki Dayanandh Rao (Daya ajja) with wife Devayani mammama and sons Mohan, Vinay, and Vijay, and Raman ajja.

The Mulki Kamaths

In IE-10, Text is truncated in the input box when user select any value from suggestions

I have a input box, where user can type any place name or select the value getting populated there.

In ie10 and above when user select any place name populated there then the name which he selected does not get reflected properly in the input box,Initial part get’s truncated so does not shows the beginning. 34 more words

Recent Questions - Stack Overflow

Sleepy Head

The day I brought Baby V home from hospital was quite terrifying.  I didn’t know how to deal with a baby and an almost-four-year-old. LagosDad was there, of course. 744 more words

Parenting

विद्यार्थी के योग्यता को बढ़ाने के उपाय

विद्यार्थीयों में  प्राणायाम, योगासन, यौगिक प्रयोगों व प्रेरणादायी प्रसंगों के द्वारा नैतिक, चारित्रिक, मानसिक व बौद्धिक उन्नति करनेवाले जीवनमुल्यों व दिव्य संस्कारों का सिंचन किया गया ।

विद्यार्थिओं के जीवन को उज्जवल बनाने में सहायक कुछ महत्वपूर्ण तथ्य निचे दिए जा रहे है !

  1. सबसे विनयपूर्वक मीठी वाणी से बोलना |

  2. किसीकीचुगली या निंदा नहीं करना |

  3. किसीके सामने किसी भी दुसरे की कही हुई ऐसी बात को न कहना, जिससे सुननेवाले के मन में उसके प्रति द्वेष या दुर्भाव पैदा हो या बड़े |

  4. जिससे किसीके प्रति सदभाव तथा प्रेम बढ़े, द्वेष हो तो मिट जाये या घट जाये, ऐसी ही उसकी बात किसीके सामने कहना |

  5. किसीको ऐसी बात कभी न कहना जिससे उसका जी दुःखे |

  6. बिना कार्य ज़्यादा न बोलना, किसीके बीच में न बोलना, बिना पूछे अभिमानपूर्वक सलाह न देना, ताना न मरना, शाप न देना | अपनेको भी बुरा-भाला न कहना, गुस्से में आ कर अपनेको भी शाप न देना, न सिर पीटना |

  7. जहाँ तक हो परचर्चा न करना, जगचर्चा न करना | आए हुए का आदर-सत्कार करना, विनय-सम्मान के साथ हँसते हुए बोलना |

  8. किसीके दुःख के समय सहानुभूतिपूर्ण वाणी से बोलना | हँसना नहीं | किसीको कभी चिढ़ाना नहीं |अभिमानवश घरवालों को या कभी किसीकोमूर्ख, मंदबुद्धि, नीच वृत्तिवाला तथा अपने से नीचा न मानना, सच्चे हृदय से सबका सम्मान व हित करना | मन में अभिमान तथा दुर्भाव न रखना, वाणी से कभी कठोर तथा निंदनीय शब्दों का उच्चारण न करना | सदा मधुर विनाम्रतायुक्त वचन बोलना | मूर्ख को भी मूर्ख कहकर उसे दुःख न देना |

  9. किसीकाअहित हो ऐसी बात न सोचना, न कहना और न कभी करना | ऐसी ही बात सोचना, कहना और करना जिससे किसीका हित हो |

  10. धन, जन, विद्या, जाति, उम्र, रूप, स्वास्थ्य, बुद्धि आदि का कभी अभिमान न करना |

  11. भाव से, वाणी से, इशारे से भी कभी किसीका अपमान न करना, किसीकी खिल्ली न उड़ना |

  12. दिल्लगी न करना, मुँह से गन्दी तथा कड़वी जबान कभी न निकालना | आपस में द्वेष बढ़े, ऐसी सलाह कभी किसीको भी न देना | द्वेष की आग में आहुति न देकर प्रेम बढे ऐसा अमृत ही सींचना |

  13. फैशन के वश में न होना | कपडे साफ-सुथरे पहनना परन्तु फैशन के लिए नहीं |

  14. घर की चीजों को संभालकर रखना | इधर-उधर न फेंकना | घर की चीजों की गिनती रखना |अपना काम जहाँ तक हो सके स्वयं ही करना |अपना काम आप करने में तो कभी लज्जाना ही, बल्कि जो काम नौकरों से या दूसरों से कराये बिना अपने करने से हो सकता है उस काम को स्वयं ही करना | काम करने में उत्साही रहना | काम करने की आदत न छोड़ना |

  15. किसी का कभी अपमान न करना | तिरस्कारयुक्त बोली न बोलना |

 

Vidyarthi

Rapture -- A pleasure in Waiting

The Indian marriage alliance for would be brides and grooms is very complicated. There are a lot of things which come into picture while selecting a suitable partner. 498 more words

Vinay