‘संविदा शाला शिक्षक वर्ग-3 पात्रता परीक्षा वर्ष 2011 के समय मुझे पंकज त्रिवेदी ने बताया था कि प्रवेश पत्रों की फोटो कॉपी के किनारे में पेन से जिसमें मिनिस्टर लिखा हो, वह काम मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के यहां से आया है। इसी तरह प्रवेश पत्रों की फोटो कॉपी में कुंवरलाल जी, अजय मेहता, उमेश त्रिपाठी, पांडेजी, संतोष चौरे, मांगीलाल पटवारी जैसे कोड वर्ड लिखे होते थे।

यह सभी का ताल्लुक भी मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा से होना बताया था। पांडेजी लिखे प्रवेश पत्रों का मतलब था कि अतिरिक्त प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा अजिता बाजपेयी पाण्डे के पति अमित पांडे द्वारा भेजा काम था।’ यह इकबालिया बयान व्यापमं के पूर्व कम्प्यूटर एनालिस्ट नितिन महिन्द्रा ने एसटीएफ को दिए इकबालिया बयान में कही है।

चालान के साथ पूर्व नियंत्रक पंकज त्रिवेदी के भी इकबालिया बयान लगाए गए हैं। इसमें 33 गवाहों के नामों की सूची पेश की गई है। एसटीएफ ने मंगलवार को सीजेएम पंकज सिंह माहेश्वरी की अदालत में 35 लोगों के खिलाफ 200 पन्नों का पूरक चालान पेश किया है। चालान के साथ पंकज त्रिवेदी, नितिन महिन्द्रा, अजय कुमार सेना, चन्द्रकांत मिश्रा, अरविंद किशोर मिश्रा के इकबालिया बयान लगाए गए है। मामले में एक अन्य आरोपी राज्यपाल के पूर्व ओएसडी धनराज यादव के इकबालिया बयान नदारद हैं।

Source: Madhya Pradesh News