Tags » Art & Culture

Famous Temples In India List भारत के प्रसिद्ध मंदिरों के नाम एवं उनके स्थान

भारत के प्रसिद्ध मंदिरों के नाम एवं उनके स्थान (Famous Temples In India List)
सभी कॉम्पीटिशन जैसेः Banking ,SSC ,Police ,Army Navey आदि एग्जाम के समान्य ज्ञान के सेक्शन के अन्दर प्रसिद्ध मंदिरों के नाम एवं उनके स्थान से सबंधित प्रश्न जरुर पूछे जाते है क्योकि प्रसिद्ध मंदिरों के नाम एवं उनके स्थान से सबंधित प्रश्न समान्य ज्ञान का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट है और प्रसिद्ध मंदिरों के नाम एवं उनके स्थान से सबंधित से रिलेटेड बहुत ज्यादा प्रश्न बनते है जैसेः काशी विश्वनाथ मंदिर कहाँ है उत्तराखण्ड में प्रसिध मंदिर कौन सा है ऐसे बहुत से प्रश्न बनते है यदि आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे: आईएएस, शिक्षक, यूपीएससी, पीसीएस, एसएससी, बैंक, एमबीए एवं अन्य सरकारी नौकरियों के लिए तैयारी कर रहे हैं, तो आपको भारत के प्रसिद्ध मंदिरों से सबंधित जानकारी होनी चाहिए यंहा हमने भारत के प्रसिद्ध मंदिरों से सबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे है इनमे से प्रश्न अक्सर एग्जाम में पूछे जाते है | … 70 more words

GK

Maria Tallchief, America's Most Famous Prima Ballerina

Although she became one of the most famous prima ballerinas in America, Maria Tallchief was a young girl much like many other young girls her age. 549 more words

The CosmoPolite

Confronting the dead: ‘The Last Image’ at C / O Berlin

‘The Last Image: Photography and Death’ presents the endeavour of artists throughout the ages to grapple with the mysterious concept of mortality through the medium of photography. 705 more words

Art & Culture

(More) Pains of Glass

by Amanda Glass

JUST LEAVE ME TO MY CRAZINESS
The yogis tell me prana
will bring me a great peace.
The Hare Krishna’s have their chant, 409 more words

Social Commentary

Art & Culture Revision Handwritten Notes By ForumIAS For UPSC Exam

Click Here To Download The PDF of FORUM IAS Art & Culture Revision Notes

Indian Art & Culture is a vast subject in which there are many sub-areas like art, architecture, sculpture, philosophy, science etc. 94 more words

India

Pains of Glass

by Amanda Glass

Please Note: I wrote this book of poems back in the 1970s, beginning with “3 AM” when I was 23 and first awoke as an artist and began my journey as an independent-thinking (and acting) human being. 398 more words