Tags » Bhopal

Sundays are different! We wait for this day the whole week. A day to spend some time with our loved ones, a day just to relax and a day to catch up on the left out sleep.  405 more words

Bhopal

मध्यप्रदेश के सभी जिले सिविल डिफेंस जिला घोषित

डिजास्टर मैनेजमेंट संस्थान में नागरिक सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन के महानिदेशक श्री मैथिलीशरण गुप्त के मार्गदर्शन में एक-दिवसीय कार्यशाला हुई। इसमें विभिन्न जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित जिलों के अधिकारी शामिल हुए। 7 more words

BHOPAL

लंबित परियोजनाओं में तेजी से कार्रवाई के निर्देश

खान एवं इस्पात मंत्रालय में आने वाले सार्वजनिक उपक्रमों के साथ जिन परियोजनाओं के एम.ओ.यू. हुए हैं उनमें तेजी से कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की केन्द्रीय खान एवं इस्पात मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ हुई बैठक में यह निर्देश दिये गये। केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न खनिजों में खनिज क्षेत्र बढ़ाने का प्रस्‍ताव केंद्र को भेज सकती है।

बैठक में बताया गया कि स्टील अथॉरटी ऑफ इंडिया की छतरपुर जिले में स्टील प्लान्ट लगाने की परियोजना है। इसमें करीब 5 हजार लोग को रोजगार मिलेगा। इसी तरह माइल की बालाघाट जिले में प्लान्ट स्थापित करने की परियोजना है। एन.एम.डी.सी. की टीकमगढ़ और पन्ना जिले में खनिजों के एक्सप्लोरेशन की परियोजना है। हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड बालाघाट जिले में भूमिगत खनन की योजना पर काम कर रहा है। नाल्को की प्रदेश में एलुमिना रिफाइनरी स्थापना की परियोजना है।

बैठक में मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डिसा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, आयुक्त खनिज श्री अजातशत्रु, प्रभारी खनिज सचिव श्री अनुपम राजन, केंद्रीय खान एवं इस्पात मंत्री के निज सचिव श्री निकुंज श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।

BHOPAL

यात्री बसों में ओव्हरलोडिंग की शिकायत व्हाटसअप पर करें

नशे में वाहन चलाने पर लाइसेंस होगा निरस्त
परिवहन विभाग की समीक्षा में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यात्री बसों के निरंतर निरीक्षण के दिये निर्देश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने यात्री वाहनों के निरंतर निरीक्षण का अभियान चलाने के निर्देश देते हुए कहा कि नशे में वाहन चलाने वाले चालकों के लायसेंस तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जायेंगे। श्री चौहान ने परिवहन विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि वाहनों का प्रदूषण स्तर और उनकी फिटनेस की भी निरंतर जाँच होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन यात्री बसों में क्षमता से ज्यादा यात्री सफर करेंगे उन बसों की सूचना फोटो सहित वाट्सएप के माध्यम से या सोशल मीडिया के अन्य माध्यम से संबंधित अधिकारी को भेजने पर वाहन चालक और वाहन मालिक के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इसके लिये जल्दी ही नई व्यवस्था लागू होगी। इससे यात्रियों के सहयोग से बसों में ओव्हरलोडिंग पर नियंत्रण रखने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने बस स्टेण्ड पर निजी-सार्वजनिक क्षेत्र के सहयोग से प्रबंधन व्यवस्थाएँ सुधारने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने लोक परिवहन अधोसंरचना प्राधिकरण की गतिविधियाँ शुरू करने के लिये प्रारंभिक रूप से 5 करोड़ की राशि देने के निर्देश दिये।

बताया गया कि स्कूल बसों का कर (टेक्स) 120 रुपये प्रति सीट प्रतिवर्ष से घटाकर 12 रुपये कर दिया गया है। इससे प्रदेश में 15 हजार स्कूल बसों को लाभ हुआ है। वाहनों के पंजीयन, लायसेंस जारी करने की ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री वाहन चालक-परिचालक कल्याण योजना में 17 हजार चालक का पंजीयन हो चुका है। परिवहन राजस्व बढ़कर 1571 करोड़ हो गया है। इस साल के अंत तक यह 2100 करोड़ तक बढ़ेगा। महिलाओं को नि:शुल्क वाहन चालन लाइसेंस दिया जा रहा है। वाहनों का लाइफ टाइम टेक्स कम कर दिया गया है। किसानों के हित में कृषि उपयोग के वाहनों पर कर 6 प्रतिशत से घटाकर एक प्रतिशत कर दिया गया है। पर्यावरण की दृष्टि से पन्द्रह साल से ज्यादा चल चुके वाहनों को परमिट देना बंद कर दिया गया है। वाहन प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण-पत्र देने के लिये 3000 केन्द्र स्थापित किये जायेंगे।

बैठक में परिवहन मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

BHOPAL

जेलों में सुधार कार्यों को बढ़ावा दिया जाये

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जेलों की सुदृढ़ता पर विशेष ध्यान देने के लिये कहा है। उन्होंने प्रमुख जेलों में जेमर लगाने को कहा जिससे कैदियों द्वारा मोबाइल फोन का उपयोग नहीं किया जा सके। जेमर लगाने की शुरूआत भोपाल जेल से होगी। श्री चौहान ने जेलों में सुधारात्मक कार्यों को बढ़ावा देने के निर्देश भी दिये हैं। मुख्यमंत्री चौहान जेल विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

समीक्षा में गृह एवं जेल मंत्री श्री बाबूलाल गौर, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, अपर मुख्य सचिव श्री पी.सी. मीणा, प्रमुख सचिव वित्त श्री आशीष उपाध्याय, जेल महानिदेशक श्री वी.के. सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जेलों को और सुदृढ़ बनाया जाये। इससे खतरनाक कैदियों के भागने की गुंजाइश नहीं रहे। साथ ही उन पर सख्त निगरानी रखें। जेलों में शिक्षा और कौशल उन्नयन जैसे सुधारात्मक कार्यों को बढ़ावा दिया जाये। इससे बंदी रिहा होने पर समाज की मुख्य-धारा से जुड़ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने प्रोबेशन एक्ट में जरूरी संशोधन की भी सहमति दी।

बताया गया कि बंदियों द्वारा जेलों में विभिन्न प्रकार की सामग्री बनायी जा रही है। इस सामान की ‘कान्हा ब्राण्ड’ के नाम से बाजार में भी बिक्री होगी। जानकारी दी गयी कि होशंगाबाद में खुली जेल में 25 कैदी सपरिवार निवास कर रहे हैं। वे प्रतिदिन काम-धंधे के लिये बाहर जाते हैं और शाम को वापस आ जाते हैं। इसी तरह की खुली जेल सतना में निर्माणाधीन है। बताया गया कि इस वर्ष 5340 बंदी को पैरोल दी गई है। कुल 10 हजार 367 बंदियों को शिक्षित किया गया है। इनमें साक्षर, स्नातक, स्नातकोत्तर और एम.बी.ए. शामिल हैं।

BHOPAL

रोइंग खिलाडि़यों ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीते चार पदक, अखिल भारतीय सिविल सर्विसेस व्हाॅलीबाल प्रतियोगिता आज से प्रारंभ

मध्य प्रदेश वाटर स्पोट्र्स रोइंग अकादमी के खिलाडि़यों ने हैदराबाद में अपनी प्रतिभा का शानदार प्रदर्शन कर 34वीं सीनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता में एक रजत और तीन कांस्य पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित किया। यह पहला अवसर है जब रोइंग खेल में अकादमी के जूनियर बालक एंव बालिका वर्ग के खिलाडि़यों ने सीनियर रोइंग चैम्पियनशिप में पदक जीते हैं।
हैदराबाद में 25 से 31 जनवरी 2016 तक आयोजित सीनियर नेशनल रोइंग चैम्पियनशिप के महिला 2000 मीटर डबल स्कल इवेन्ट में अकादमी की खिलाड़ी रूकमणी और सोना कीर की जोड़ी ने रजत पदक तथा पुरूष वर्ग के 2000 मीटर काक्सलेस पेयर इवेन्ट में विश्वजीत और भानुप्रताप की जोड़ी ने कांस्य पदक अर्जित किया। इसी वर्ग के काक्सलेस फोर 2000 मीटर इवेन्ट में विश्वजीत, भानुप्रताप, फारूख खान और मानस शर्मा ने कांस्य पदक जीता। इसी तरह प्रतियोगिता के 500 मीटर काक्सलेस फोर इवेन्ट में भी उक्त खिलाडि़यों ने एक कांस्य पदक अर्जित किया। प्रतियोगिता में 19 राज्यों के खिलाडि़यों ने भागीदारी की।
चैम्पियनशिप में अकादमी के तकनीकी सलाहकार एवं मुख्य रोइंग प्रशिक्षक, अर्जुन अवार्डी श्री दलबीर सिंह राठौड़ और सहायक प्रशिक्षक सुश्री मुन्शैदी खातून के नेतृत्व में अकादमी के 8 बालक एवं 5 बालिका खिलाडि़यों ने भागीदारी की। खिलाडि़यों द्वारा अर्जित उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्रदेश की खेल और युवा कल्याण मंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया ने पदक विजेता खिलाडि़यों को बधाई दी है।
पदक विजेता खिलाडि़यों ने आज संचालक खेल और युवा कल्याण श्री उपेन्द्र जैन से भेंट की। खेल संचालक श्री जैन ने हैदराबाद में आयोजित राष्ट्रीय रोइंग प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाडि़यों के उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना करते हुए पदक विजेता खिलाडि़यों को बधाई दी। उन्होंने खिलाडि़यों से कहा कि वे राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में कड़ा परिश्रम कर अपनी प्रतिभा में निखार लाएं।
गौरतलब है कि जूनियर एशियन रोइंग चैम्पियनशिप की तैयारी के लिए आगामी माह मार्च 2016 में हैदराबाद मंे राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा।

BHOPAL

अस्पतालों को बनाये उत्कृष्ट चिकित्सा संस्थान

जबलपुर में खुलेगा राज्य केंसर संस्थान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ मंत्रालय में चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा की। उन्होंने कहा सभी जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों में उपलब्ध मशीनें हमेशा संचालित स्थिति में होना चाहिए। यदि मशीनों की उपलब्धता के बावजूद उन्हें बंद पाया गया तो सभी जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों को उत्कृष्ट चिकित्सा संस्थान के रूप में विकसित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाय-पास सर्जरी एवं अन्य गंभीर बीमारियों, शल्य क्रियाओं के लिये विशेषज्ञ सुविधा उपलब्ध करने की व्यवस्था करे। इसके लिये धनराशि की कोई कमी नहीं है।

उन्होंने कहा कि जिला अस्पतालों और चिकित्सा महाविद्यालयों से संबद्ध अस्पतालों में चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार के लिये जो निर्माण कार्य चल रहे हैं। उन्हें समय-सीमा में पूरे करें।
मुख्यमंत्री ने नर्सिंग कॉलेजों में पढ़ाई, प्रबंधन, प्रशिक्षण कार्यों पर सतत निगरानी रखने के निर्देश दिये।

बैठक में बताया गया कि देश की दूसरी क्षेत्रीय स्तर की वायरोलाजी लेब भोपाल के चिकित्सा महाविद्यालय में स्थापित हो रही है। अगले तीन माह में तैयार हो जायेगी।

ग्वालियर, सागर, इंदौर, रीवा और जबलपुर चिकित्सा महाविद्यालयों में वांयरोलाजी प्रयोगशालाओं की स्थापना भारत सरकार के सहयोग से की जायेगी।

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना में ग्वालियर, रीवा और जबलपुर में सुपर स्पेशलिटी ब्लाक की स्थापना की जा रही है।

जबलपुर चिकित्सा महाविद्यालय में राज्य केंसर संस्थान की स्थापना होगी। इसमें केन्द्र सरकार संस्थान की स्थापना के कुल बजट का 75 प्रतिशत उपलब्ध करवायेगी। इसी प्रकार ग्वालियर में टर्शिअरी केंसर केयर सेंटर की स्थापना की जायेगी।

ग्वालियर में टी.बी. के मरीजों की आधुनिक तरीकों से जाँच के लिये आधुनिक प्रयोगशाला भारत सरकार के सहयोग से स्थापित की जा रही है। भारत सरकार के सहयोग से ही रीवा, ग्वालियर, जबलपुर और इन्दौर में मल्टी डिसिप्लीनरी रिसर्च यूनिट स्थापित होगी।

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री श्री शरद जैन, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

BHOPAL