Tags » Birla Mandir

Indian Temples

While I myself am not Hindu, and identify as Christian I have a love for other religions and cultures. In the movie Life of Pi, the lead character starts the movie off by telling how he loves to learn about a religion. 448 more words

Art

*3 Pictures* - My Trip To Jaipur!

This talented lad decided to capture some great shots during his trip to Jaipur last weekend.

We think he saw beautiful vistas and clicked mind blowing pictures, do you? 18 more words

Photography

Places to visit and things to do in Hyderabad

Hyderabad is a beautiful city and my hometown where there are many things to do and places to see. I would recommend if you don’t have the money to take a… 321 more words

Hyderabad

Teachers day, Krishna's birthday and Calcutta University

On the wednesday when I got back to Kolkata, one of the girls had got a copy of the article in the news on the rowing coaching clinic I had run, it was great exposure for the sport and the Future Hope rowing project. 580 more words

Walking to school

On my first day I took a lift to school, but the second day I was feeling more adventurous and decided to walk it. “Left, Right and then Right”, were the directions given to me by Oroon as I left the flat…. 433 more words

गुलाबी नगरी जयपुर भाग -2

लक्ष्मी नारायण मंदिर (बिरला मंदिर)

मोती डुंगरी के समीप बना यह मंदिर भगवान श्री नारायण तथा  माँ श्री लक्ष्मी को समर्पित है। यह मंदिर सफ़ेद संमरमर का बना हुआ है। मंदिर प्रागण अत्यंत सुन्दर तथा स्वछ है। इस मंदिर का निर्माण 1988 में बिरला ग्रुप ऑफ़ इंडस्ट्रीज द्वारा करवाया गया था। बिरला मंदिर के पास पहाड़ी पर मोती डूंगरी फोर्ट स्थित है जो स्कॉटिश शैली से बना एक क़िला है।

मोती डूंगरी गणेश मंदिर

मोती डूंगरी गणेश मंदिर जयपुर का प्राचीन मंदिर है। ऐसा माना जाता है की इस मंदिर में स्थापित मूर्ति 18वीं सदी में मेवाड़ के तत्कालीन राजा द्वारा यहाँ लाई गयी थी तथा सेठ जय राम पालीवाल ने मंदिर का निर्माण करवाया। गणेश की मूर्ति पर सिन्दूर का चोला चढ़ाया जाता है। भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को आने वाला गणेश चतुर्थी का त्यौहार यहाँ अत्यंत हर्ष व उल्हास से मनाया जाता है।

गलता जी मंदिर व कुण्ड

यह हिन्दुओं का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर जयपुर से 10 कि. मी. दुरी पर अरावली पहाड़ियों में  स्थित है  ऐसा मन जाता है की यहाँ गालव नमक एक संत ने तप किया था।मुख्य मंदिर को गलता जी का मंदिर कहा जाता है। यहाँ बालाजी तथा सूर्य भगवान का मंदिर भी स्थित है। गलता जी मंदिर प्रागण में बहुत से बंदर रहते है। यहाँ बने एक मंदिर को बंदर वाला मंदिर भी कहते है। मंदिर प्रागण में  प्राकृतिक पानी के कुण्ड है जहाँ श्रद्धालु स्नान करते है।

गोविन्द देव जी

यह मंदिर भगवान श्री कृष्ण तथा राधा रानी को समर्पित है। गोविन्द देव जी मंदिर सिटी पैलेस प्रांगण में स्थित है। इस मंदिर में स्थापित भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति महाराजा सवाई जय सिंह वृन्दावन से ले कर आये थे। ऐसा माना है की इस मूर्ति का निर्माण श्री कृष्ण के पोते के पोते ने किया था। उसने अपने अपनी दादी से पुछा की श्री कृष्ण कैसे दिखते है, जैसा विवरण उसकी दादी ने बताया उस के अनुसार उसने के मूर्ति बनायीं। लोक गाथाओ के अनुसार यह मूर्ति बिलकुल वैसी ही दिखती है जिस रूप में भगवान ने धरती पर अवतार लिया था।

आपके सुझाव या यात्रा सम्बन्धी कोई प्रश्न हो तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिखें। 

शेष अगले पोस्ट में… फिर मिलेंगे…. तब तक अपना ख्याल रखिये…!!

Hindi Travel Blog

A visit to the temple

I felt like the luckiest girl alive!

After being away from home for 5 weeks, my boyfriend surprised me with a spontaneous visit to India for my last week! 140 more words

Travel