Tags » Bsp

Baz fights for his life in the first promo for 'Animal Kingdom' season 3

If you need a reminder of where Animal Kingdom left off in its season 2 finale, let’s put it as simply as possible: Baz was shot. 145 more words

TV

शहला ताहिर को मिली जमानत, 50-50 हजार के होगें जमानती, पासपोर्ट भी हुआ जब्त

पीलीभीत। सीजेएम कोर्ट से जमानत खारिज होने के बाद जिला जज दिनेश कुमार सिंह ने धोखाधड़ी के आरोप में बरेली के नवाबगंज नगर पालिका परिषद की चेयरमैन शहला ताहिर को जमानत दे दी है। शहला को जमानत के लिये 50-50 हजार के दो जमानती अदालत में पेश करने होंगे। पीलीभीत से जमानत मिलने के बाद जेल से शहला की रिहाई का रास्ता साफ हो गया है।

मामला वर्ष 2003 का था जब तत्कालीन नगर पालिका पीलीभीत के चेयरमैन राजीव अग्रवाल ने शहला ताहिर व उनके पति डॉ. मोहम्मद ताहिर के विरुद्ध सुनगढ़ी थाने में धोखाधडी की रिपोर्ट करायी थी। उन्होने दी गयी तहरीर में बताया था कि 4 अप्रैल 2003 को कैंप कार्यालय पर दो लोग आए जिन्होंने अपनी पहचान डॉ. मोहम्मद ताहिर व शहला ताहिर के रूप में बतायी और एक आदेश अधिशासी अधिकारी के पद पर कार्यभार ग्रहण कराने का दिया। उन्होने तत्कालीन मंत्री आवास, नगर विकास एवं नगरीय रोजगार, उत्तर प्रदेश शासन, लखनऊ के लिखे पत्र की फोटो कॉपी तथा जनपद बिजनौर के नगर पालिका चांदपुर में अधिशासी अधिकारी के रूप में कार्य करने की बात कही और चांदपुर की नगर पालिका की ओर से दिया गया अनापत्ति प्रमाण पत्र भी दिया। जिसके बाद तत्कालीन चेयरमेन राजीव अग्रवाल ने उन्हे कार्यभार भी ग्रहण करा दिया। लेकिन बाद में दिये गये सभी पपत्र फर्जी निकले। पूरे प्रकरण की विवेचना के बाद डॉ. मोहम्मद ताहिर व उनकी पत्नी शहला ताहिर के विरुद्ध आरोप पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। डॉ. ताहिर की उसी समय जमानत हो गयी थी, परंतु पत्नी के विरुद्ध आरोप पत्र फरारी में दाखिल किया गया था। जिसपर उन्होने ध्यान नहीं दिया। हाल ही में जब वो बरेली उन्हे बरेली से गिरफ्तार किया गया तो पीलीभीत न्यायालय से भी गैर जमानती वारंट जारी हुये और शहला बरेली जेल से आकर पीलीभीत की अदालत में पेश हुयी थी। जिसके बाद उनकी जमानत निचली अदालत से खारिज हो गयी थी। शहला को जिला सत्र न्यायालय से सशर्त जमानत मिल गयी है।

यह है शर्ते

1. उन्हे 50-50 हजार के दो जमानती अदालत में पेश करने होगें।

2. उनका पासपोर्ट अदालत में जब्त रहेगा।

3. बिना अदालत की आज्ञा से वो देश के बाहर नहीं जा सकती।

 4. उन्हे अपना स्थाई व अस्थाई पता निवास प्रमाण पत्र अदालत को देना होगा, पता बदलने से पहले अदालत को सूचित करना होगा।

5. मुकदर्मा ट्राइल पर आने के बाद धारा 313 के तहत उन्हे स्वंय अदालत में उपस्थित रहना पडेगा।

6. उन्हे हर तीन महीने में अपनी नेकचलनी और सादगी की आख्या अदालत को देनी होगी।

यदि इन सभी शर्ताें में से किसी भी शर्त का उलघन होता है तो शहला की जमानत खारिज हो जायेगी। बरहाल पीलीभीत से जमानत मिलने के बाद शहला की रिहाई का रास्ता साफ हो गया है।

Home

First footage of 'Scandal,' 'How to Get Away with Murder' crossover revealed

The highly anticipated crossover between Scandal and How to Get Away with Murder is upon us — and we finally have a first look at what’s in store! 303 more words

TV

First look: 'Grey's Anatomy' introduces 'Station 19' hero in TGIT crossover event

Before Station 19 joins the Thursday night lineup on March 22, Grey’s Anatomy fans will get a taste of what’s in store for the firefighter-focused spin-off when its lead hero comes to Grey Sloan during a… 208 more words

TV

'NCIS': See Mark Harmon manhandle guest star Drew Carey

Someone framed Drew Carey. And he wants to kick some butt!

EW has obtained an exclusive first look at the Price Is Right host in his guest-starring role on… 159 more words

TV

'The Blacklist' first look: Liz finally meets her family

Liz Keen will come closer than ever to getting the truth behind Tom’s death during Wednesday’s episode of The Blacklist.

Ahead of a two-week hiatus for the Olympics, … 123 more words

TV

Budget session: Takeaways from Sonia's call to unite 17 parties against BJP

Congress leader urges like-minded parties to bury differences, stand firm against saffron set-up; BSP turns deaf ear

LATEST NEWS :    The opposition parties are prepared to assault the NDA authorities throughout the ongoing budget consultation of the Parliament. 182 more words

News