Tags » CJP

क्या-क्या न गुल खिलाये है गुजरात का लला - Pankaj Parvez

क्या-क्या न गुल खिलाये है गुजरात का लला
ओबामा को पटाये है गुजरात का लला

लक्खी सूट पे लिखे सोने से अपना नाम
फैशन नया चलाये है गुजरात का लला

हर घर को पंद्रह लाख देने का वादा था

ठेंगा मगर दिखाये है गुजरात का लला

होरी की मौत, भूमि लुटेरों की मौज हो
क़ानून बदलवाये है गुजरात का लला

जो भी बोला सच वो बरख़ास्त हो गया
अच्छे दिन दिखाये है गुजरात का लला

सच्चाइयों को क़ैद, हैं मुठ-भेड़िये बरी
इंसाफ़ यूँ कराये है गुजरात का लला

राख तख़्त-ओ-ताज की तारीख़ भूलकर
ख़ुद को ख़ुदा बताये है गुजरात का लला

अख़बार औ चैनल सभी, चारण हुए मगर
दिल्ली में मात खाये है गुजरात का लला

Hillele.org

Teesta Setalvad and Javed Anand respond to Sabrang Trust Vs Government of Gujrat controversy

Q1-The state government of Gujarat has written a letter to Union Ministry of Home Affairs that the Sabrang Trust and the Sabrang Communication media company received three separate grants from Ford Foundation in 2004, 2006 and 2009 for what it calls highly questionable activities, all bordering on if not outrightly political. 1,042 more words

Hillele.org

आप दुर्भावना से प्रेरित हैं, अर्णब गोस्वामी – खुला पत्र

प्रिय अर्णब गोस्वामी,

हालांकि आप सर्वसक्षम और सर्वशक्तिमान टीवी पत्रकार-सम्पादक और प्रस्तोता हैं, लेकिन फिर भी मैं नाचीज़ आपके हाल के ही एक बुलेटिन को देखने के बाद आप से कुछ सवाल और आपके कुछ सवालों के जवाब देने की हिमाकत कर रहा हूं। मैं जानता हूं कि आप इसके बदले में इतनी ज़ोर से चीख सकते हैं कि मेरी समझ और सोच की शक्ति ही खत्म हो जाए। आप साबित कर सकते हैं कि मैं देशद्रोही हूं और मुझे इस देश में रहने का अधिकार नहीं है। लेकिन प्रिय अर्णब, 15 अप्रैल, 2015 के अपने न्यूज़ऑर डिबेट में आप ने सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सेतलवाड़ के खिलाफ जिस तरह से बहस की, उसमें आप न केवल एक पार्टी के तौर पर नज़र आए, बल्कि आप ने लगभग वही (कु)तर्क दिए, जो कि अमूमन दक्षिणपंथी राजनेता दिया करते हैं। 8 more words

The Feminist

Failing to arrest Teesta again, Gujarat Government's next move is citing Ford foundation funds - Rukmini Sen

First it was “Kidnapping of Zahira Shaikh”.

Teesta Setalvad was a co-petitioner in the Best bakery case. Zahira Sheikh was the star witness. The first information report was based on Zahira’s eyewitness account of the massacre that occurred during the Gujarat communal carnage. 1,160 more words

The Feminist

तीस्ता के साथ फोर्ड को लपेटने का वार - भाषा सिंह

“गुजरात सरकार के लिए परेशानी खड़ी करने का साहस रखने वाली मानवाधिकार कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के लिए मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रहीं। उनकी संस्था को आर्थिक सहयोग करने वाली अमेरिका की संस्था फोर्ड के खिलाफ केंद्र सरकार ने मोर्चा खोल दिया है। ”

The Feminist

Teesta Setalvad extends full support to FCRA officials in inspecting accounts and records of both Sabrang and CJP

Following the letter from the Gujarat Government to the Union Ministry of Home Affairs, a team of four senior officers from the Monitoring Unit of the FCRA department, New Delhi visited the registered offices of Sabrang Trust and Citizens for Justice and Peace (CJP) for an inspection of the accounts and records of both the trusts. 293 more words

The Feminist

Destiny Avoided

It’s been quite a while but Action has come out with a new hair! Also a new colour system. Also a few items from Creation.JP… 66 more words