Tags » Constitution

The Banning of Alex Jones - Election Interference? Free speech?

Questions and Concerns

  • Is the banning of Alex Jones by various social media sites a reflection of our own hypocrisy, at least with regard to our federal government’s attempts to use unsubstantiated claims of “interference” to further escalate tensions between Russia and the U.S.?
  • 204 more words
Government

Social Media and the Government - Best Friends or Mere Acquaintances?

What are the existing problems (if any) with social media?

    • Should social media sites such as Facebook and Twitter be regulated, or should we try to separate them from government?
  • 400 more words
Government

First Principles: The Corruption of A People Make It Ripe For Destruction

“Nothing is more certain than that a general profligacy and corruption of manners make a people ripe for destruction. A good form of government may hold the rotten materials together for some time, but beyond a certain pitch, even the best constitution will be ineffectual, and slavery must ensue.” 6 more words

First Principles

आज़ादी का खुराफ़ाती फॉर्मूला

आज़ादी का दिन observations का दिन था… 

पूरे दिन मेसेज फॉरवर्ड किए जाते रहे… DP बदली गईं… तिरंगे लहराए गए… पतंगें खरीदी और उड़ाई गईं… तिरंगे के रंगों से मैचिंग कपड़े पहने गए… देश पर गर्व होने के भाषण दिए गए… देश को महान बनाने की बातें की गईं…

आज़ादी से यूं प्रफुल्लित होने में कुछ बुरा नहीं है… लेकिन इस खुशी में बहुत सी नकली उम्मीदों का प्रदूषण भी है… ये ऐसी उम्मीदें हैं जिनके प्रति किसी की निजी जवाबदेही नहीं है… 

सब को देश में बदलाव और क्रांति लाने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति की ज़रूरत है… जो उम्मीदों से भरे ट्रक का ड्राइवर बन जाए… (*कौन सी उम्मीदें ? ये जानने के लिए आपको इस लेख के निचले हिस्से में जाना होगा

उम्मीदों के संदर्भ में बुद्ध कहते हैं कि उम्मीद से इतनी समस्या नहीं है बल्कि उम्मीद से हमारा जो लगाव होता है, वो तकलीफ का कारण बनता है… 

नकली उम्मीदों और उम्मीदों से लगाव को एक तरफ रख दें, और अपने-अपने हिस्से का काम कर लें… तो सही मायने में आज़ादी साकार हो जाएगी… 

इस विचार से जुड़ा ‘खुराफ़ाती फॉर्मूला’ नीचे लिखा हुआ है… ये फॉर्मूला सौ फीसदी आज़ाद है… 

कहते हैं उम्मीद पर दुनिया कायम है
यानी उम्मीद = दुनिया
ये भी कहा जाता है कि उम्मीद करने से दर्द मिलता है
यानी उम्मीद = दर्द
तो इस हिसाब से तो
दुनिया = दर्द 

कमाल है बिल्कुल सटीक equation बन गया… दुनिया तो दर्द से भरी है ही… तभी तो आज़ादी के दिन को भी इस दर्द के साथ ही याद किया जाता है…

(*उम्मीदें =  महिलाओं को सुरक्षा मिले, धर्म और जाति के नाम पर भेदभाव बंद हो जाए, मंदिर-मस्ज़िद की लड़ाई खत्म हो जाए, प्रदूषण, पर्यावरण, जनसंख्या, गरीबी, अशिक्षा… जैसी सामाजिक बुराइयां गायब हो जाएं… वगैरह…वगैरह) 

India

Secure from unlawful search and seizure,
Except for circumstances exigent.
Police cannot harass at their leisure,
Else actions may be labeled negligent.

An issue the Supreme Court has addressed, 61 more words

Poetry

Me? A Nazi sympathizer?

Yeah, it’s the first time I think I have ever been called that on social media, and it was because I had the gall to say that the nazis have the right to speak and march. 227 more words

Constitution

Counting on all Cubans - Via Granma

All Cuban citizens living abroad have the opportunity to participate in the discussion of the proposed new Constitution, an unprecedented step that reflects the government’s determination to take into consideration the opinions of all Cubans, both in and outside the country. 89 more words

General Information