Tags » Daniel Pearl

क्या हंसल मेहता और राजकुमार राव की जोड़ी फिर वोही कमाल करेगी ओमर्टा के साथ

ARIJIT BOSE

राजकुमार राव और हंसल मेहता के चाहने वाले इस इंतेज़ार में हैं की एप्रिल 20 आए. हाँ और हो भी क्यों ना, उस दिन ओमर्टा फिल्म थियेटर्स में पहुँच रही है.

जब भी राव और मेहता ने हाथ मिलाया, कुछ ना कुछ कमाल ज़रूर हुआ है. मिसाल के तौर पर ‘अलीगढ़’, ‘सिटीलाइट्स’ और ‘शाहिद’ को ही ले लीजिए. इस बार भी राजकुमार ने मीडीया से कहा है की अब तक का सबसे धमाकेदार परफॉर्मंस उनका ओमर्टा में है.

आंजेलीना जोली के आ माइटी हार्ट में आखरी बार डॅनियल पर्ल के मर्डर की कहानी दर्शाई गयी है.

कयास लगाए जा रहे थे की ये कहानी गॉडफादर के रचईता मारिओ पूज़ो की कहानी ओमर्टा पर आधारित है, पर हंसल मेहता ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है.

हंसल मेहता और उनकी टीम की माने तो ये फिल्म कुछ हद तक ये दर्शाने की कोशिश करती है की कैसे पड़े लिखे विदेश में जन्मे कुछ लोग अक्सर रास्ता भटक जाते हैं.

जिन्होने फिल्म देखी है अंतराष्ट्रिया फिल्म फेस्टिवल्स में बताते हैं ये बदले की भावना, लाहोर, कराची और लंडन के इमाम और पाकिस्तानी जासूसों का आतंक में हाथ की कहानी बताती है.

राव ने कई चुनौतीपूर्णा किरदारों को रुपेहले पर्दे पर उतारा और उनको बाखूबी निभाया. ओमर्टा, वॉल स्ट्रीट जर्नल के पत्रकार, डॅनियल पर्ल की हत्या पर आधारित कहानी है, जिसमे प्रमूख भूमिका में राव हैं. वो पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश आतंकवादी अहमद ऑमर सायीड शेख के किरदार मे नज़र आएँगे.

फिल्म को प्रोड्यूस किया है नाहिद ख़ान ने और पेश कर रहे हैं इस फिल्म को स्विस एंटरटेनमेंट.

एक ओर जहाँ शेख लगातार इतने सालों में कहते आए हैं की उनकी पर्ल की हत्या में कोई भूमिका नही है, ओमेर्टा उम्मीद है कई बड़े हक़ीकतों पर से परदा उठाएगी.

शेख की कहानी काफ़ी पेचीदा और दिलचस्प है कई माएनों में. एक ब्रिटिश मुस्लिम ट्रिपल एजेंट, शेख अभी जैल में हैं 2002 में डॅनियल पर्ल की मौत के केस में. उनके मृत्युदंड पर दायर याचिका पर अभी सुनवाई और वर्डिक्ट का इंतेज़ार है.

1973 के लंडन में जन्मे शेख तीन बच्चों में सबसे बड़े थे. शेख इस्लामिक एड एक्सपेडीशन से महेज़ 19 साल की उमर में जुड़े बॉज़्निया में. एक लंडन स्कूल ऑफ एकनॉमिक्स में पड़ने वाला लड़का कब ज्ञान का रास्ता छोड़ आतंक का रास्ता अपना लिया पता ही नही चला. 28 साल की उम्र में उन्हे मृत्यु दंड सुनाया गया, कुछ साल भारत के जेलों में रहने के बाद.

एक ऐसा शाकस जिसे कभी ओसामा बिन लादेन ने अपना बेटा माना था उसकी आतंकवाद में साख बहुत मजबूत रही है.

खबरों की माने तो शेख की ट्रैनिंग खालिद बिन वॉलीड आतंकी कॅंप में हुई.

वो ना केवल हरकत उल मुजाहिदीन से जुड़े रहे बल्कि उनका रिश्ता अल काएदा के साथ भी रहा.

डॅनियल पर्ल के अपहरण और मर्डर से लेकर तीन ब्रिटिश मूल के नागरिकों का अपहरण 1994 में तक. या फिर दिल्ली के एक अमेरिकी का अपहरण और IC-814 हाइजॅक 1999 में शेख खबरों में बने रहे.

जन्वरी 23, 2002 में डॅनियल पर्ल को जाल में फसाया गया की वो एक खबर के सिलसिले में आतंक के सरगना शेख मुबारक अली शाह गिलानी से मिलेंगे. लाहोर से कराची के सफ़र में उन्हे अपहरण कर मौत के घाट उतार दिया गया.

इस पूरी चीज़ को कॅमरा में भी क़ैद कर लिया गया.

साल 2014 में शेख के बारे में खबर आई की उन्होने जान देने की कोशिश की है.

माना जाता है अहमद ऑमर सायीड शेख ने युवाओं का आतंकवाद से जुड़ने की प्रक्रिया की शुरुआत की.

Hansal Mehta's Omerta digs deeper into the life of Ahmed Omar Saeed Sheikh

TheOmertaStory Touted as one of his most explosive pieces of work, Rajkumar Rao plays kidnapper and executioner of Daniel Pearl in Hansal Mehta’s Omerta

Rajkumar Rao has over the years taken up challenging roles and done justice to each character he plays. 503 more words

Newsy Takes

Lew Cuyler (1933-2017): Newspaper Man, Rower, Author

8 November 2017

Göran R Buckhorn writes:

The other day, I heard the sad news that Lew Cuyler had passed away on 3 November, age 84. 668 more words

Don't Come Back to Afghanistan

One is well-advised to watch the above propaganda video of the Haqqani network about Sgt Bowe Berdahl’s release in 2014 after five years in captivity of the Taliban. 188 more words

USA

When People Become Pawns

Losses must be answered, grief redressed.    ~ Julie Orringer (from Neighbors, a short story published in The Paris Review, Issue 221, Summer, 2017)

623 more words
Culture