नोटबंदी का फैसला जब आया, तो शुरू-शुरू में एक ही सुर सुनाई दे रहा था, ‘बहुत अच्छा फैसला है’, ‘काले धन का खात्मा हो जाएगा’, ‘मोदी जी ने क्या सही उपाय निकाला है’ आदि. पर जैसे-जैसे सरकार की अधूरी तैयारियों की पोल खुली और लोग कैश को मोहताज हो गए, धीरे-धीरे शिकायत के सुर भी सुनाई पड़ने लगे. अब आलम ये है कि जनता का मत बंटने लगा है और कईयों का धीरज लम्बी लाइनों में खड़े-खड़े जवाब देने लगा है. पर कुछ लोग अब भी सरकार के फैसले में विश्वास दिखा रहे हैं. शायद एक अरसे बाद किसी राजनेता के लिए ऐसी श्रद्धा देखी जा रही है.

अब इस मामले को ही ले लीजिये, जहां एक औरत अपने पति से सिर्फ इसलिए तलाक लेने को तैयार है कि उसने मोदी जी की बुराई कर दी. लगभग सवा मिनट लंबे इस वीडियो में महिला बेहद भावुक नजर आ रही है. महिला प्रधानमंत्री को समर्थन देते हुए कहती है कि मोदीजी के लिए मैं अपने पति को भी तलाक देने के लिए तैयार हूं. महिला के ये बोलते ही वहां मौजूद लोग ताली बजाने लगते हैं। इसके बाद महिला इसकी वजह बताती हुई कहती है कि क्योंकि मेरे पति मोदी विरोधी है. जो बंदा बिना किसी लालच के काम कर रहा है, आप में से कितने बिना लालच के काम करना चाहेंगे? मेरे को ये बता दो. कोई नहीं करना चाहता….आपने क्या किया…यहां जितने लोग खड़े हैं इन्होंने देश के लिए क्या किया है? एक जना बता दो….. मोदी जी हर एटीएम में पैसा डालने जाएंगे? बैंक वाले गड़बड़ कर रहे हैं तो आप लड़ो हक के लिए…आप सबके लिए एक अकेला मोदी लड़ रहा है… अगर एक लाख पर सत्तर हजार मिल रहा है, तो ये बैंक वाले गड़बड़ कर रहे हैं ना… एक दिन आप जाओ सीमा पर लड़ने, पानी नहीं मिलता, खाना नहीं मिलता. आपके बच्चे सेना में हैं, लड़ रहे हैं और जान दे रहे हैं. महिला का नाम रश्मि जैन बताया जा रहा है.