Tags » Fictions

Navratri fever

Today is the first day of the ultimate dance festival. It will be like midnight sun in all the cities. Specially gujrati…

410 more words
Fictions

अंग्रेज़ी की टीचर

10 मिनट की क्लास बाकी, फिर भी घंटों भर का भार लग रहा था। हर दिन की तरह उस दिन भी रचित को क्लास के खत्म होने का बेसब्री से इंतज़ार था।

“टन-टन-टन” बस किताब बंद की और
गालरी की ओर भाग दिया वो।

“गुड आफ्टर-नून, मिस अनीता।” हर रोज़ की तरह, उस दिन भी अंग्रेज़ी की टीचर ने रचित के बालों को सहला कर स्टाफ रूम को ओर चली गई।

पहला प्यार की तब कुछ ऐसी मुलाकात होती थी।

Fictions

Words to Live By

She finished another Tolstoy’s classic and ready for another breath. Maybe a throwback to Judy Blaume?

But then midnight arrived, and her eyes gave up. Morning came short after; time to feel a little dead inside. 46 more words

Fictions

अगली शाम

गाड़ी से ऊतर कर, कृशा घर को अपने चल पड़ी।

“फिर कब मिल सकते है?”

“कभी भी, जब वक़्त मिले।” उसने पलट कर आँखों से जवाब दिया, और रचित वही रुक उसे जाते देखता रहा।

खामोशी उस शाम छुट्टी पर थी। कहानी धीरे धीरे ऐसे ही बन जाती हैं।

Fictions

She Danced In the Rain

One day…

She stopped caring. Not because she had moved on, Oh, no, no. She dwells in her darkness and dances there on daily basis. It’s winter cold all year long. 272 more words

Wordpress

A REQUIEM FOR DREAMS

“Write your obituary”. The bespectacled old lecturer barked the order at the students. The response was not unexpected; shocked looks with incoherent murmurings.

“Write your name, your matric number, your obituary and your signature. 1,385 more words

FICTIONS

Arranged

“Two cold frappes please.” He placed the order, and then back to his seat.

She looked around, he scrolled down.

“So, how does it start?” She asked. 21 more words

Fictions