Tags » Gandhi

केन्द्रीय मंत्री के काफिले में अज्ञात वाहन से दो घायल, खुद गाडी रोककर कराया मंत्री ने इलाज

पीलीभीत के कार्यक्रम खत्म करने के बाद केन्द्रीय मंत्री व सांसद मेनका संजय गांधी बरखेडा क्षेत्र के भ्रमण पर निकली। क्षेत्र भ्रमण के दौरान उनके साथ काफिले में दर्जनों गाडियाॅ थी जिसमें पुलिस एस्कार्ट की भी गाडियाॅ थी। इन्ही में से एक पुलिस एस्कार्ट की गाडी से हुये हादसे में दो लोग घायल हो गये है, जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। वहीं मामला हाईप्रोफाईल नाम से जुढा होने की वजह से कोई भी पीडित कानूनी कार्यवाही करने से मना कर रहा है।
पीलीभीत की सांसद आज अपने दौरे पर पहुचीं केन्द्रीय मंत्री मेनका संजय गांधी के काफिले की स्कार्ट गाडी से साईकिल सवार 17 वर्षीय आनंद व 16 वर्षीय सोनी का एक्स्ीडेन्ट हो गया। सोनी के तो मामूली चोटे आयी लेकिन आनंद बेहोश हो गया। जिसके बाद खुद मेनका गांधी ने अपना काफिला रूकवाकर आनंद को सीएचसी बरखेडा में उसका उपचार कराया जहाॅ से प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने जिला अस्पताल रैफर किया है। घायल किशोर के सर व शरीर के र्क अंगों में चोटे आई है। विदित हो कि मेनका संजय गांधी अपने संसदीय क्षेत्र के थाना बरखेडा क्षेत्र में भ्रमण पर थी तभी हाईवे पर गांव ज्यौरा कल्याणपुर के पास 17 वर्षीये आनंद काफिले में शामिल एस्कार्ट गाडी की चपेट में आकर घायल हो गया वहीं पास से निकल रही एक युवती सोनी भी मामूली घायल हो गयी। जिला अस्पताल के लिये रैफर होने के बाद मेनका गांधी ने ही गाडी से घायल आनंद को जिला अस्पताल पुलिसकर्मीयो के साथ भेजा है। हादसे के बाद घायलों का उपचार कराने के बाद मेनका गांधी वापस दिल्ली को रवाना हो गयी। गौरतलब यह है की जिला अस्पताल में पहली बार किसी पुलिसकर्मी ने मरीज़ को चड़ने वाली दवा की बोतल पकड़ी और पोल जिला अस्पताल की खुली की वहां मरीजों को लगने वाली बोतल के स्टैंड नहीं है।

Home

सादे तारों से करायी जाये जंगल किनारे फेन्सिंग-मेनका

पीलीभीत। टाइगर रिजर्व के जंगलो से बाघ बाहर ना आये इसके लिये जंगल के किनारे तार फन्सिंग करने की कवायद शुरू कर दी गयी है। बीते माह पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जंगल के किनारे तारों की फेन्सिंग कराने की घोषणा की थी। जिसके बाद पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अधिकारियों ने बजट के लिये मांग पत्र भेजा था। अब पीलीभीत की सांसद व केन्द्रीय मंत्री मेनका संजय गांधी ने टाइगर रिजर्व के अधिकारियों को उसमें बदलाव लाने को कहा है। क्योंकि विभाग जंगल किनारे जिस फेन्सिंग कराने की बात कर रहा था वो कंटीले तारों से होनी थी जिससे जंगली जानवर घायल हो सकते थे।
य मंत्री मेनका संजय गांधी ने मीडिया को बताया कि टाइगर रिजर्व से लगातार बाघ आबादी में आ रहा है और ग्रामीणों के साथ उनके पालतू पशुओं पर भी हमला कर रहा है। इससे बचाव के लिये जंगल के किनारे तारों की फेन्सिंग करायी जाये। इसके लिये उन्होने पूर्व में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता की थी वहीं जब योगी आदित्यनाथ पीलीभीत दौरे पर आये तो उन्होने तारों से फन्सिंग कराने की घोषणा भी की थी। पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अधिकारियों ने इसका प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा था और शासन से इसकी मंजूरी भी हो गयी है। लेकिन मंजूरी में कंटीले तारों का जिक्र आया, जिससे जंगली जानवर घायल होगें। मेनका गांधी ने इस प्रस्ताव को बदलने का सुझाव दिया है। उन्होने कहा कि फन्सिंग कंटीले तारों से ना कराकर नार्मल तारों से करायी जाये, जिससे किसी को हानि ना पहुॅचे। कंटीले तारों को छूने से इंसान भी और जानवर भी दोनो ही घायल होगें इसलिये इसमें सुधार लाना जरूरी है।

Home

डीएसओ बरेली लेता है रिश्वत, जल्द होगी कार्यवाही-मेनका

Desk
पीलीभीत। पीलीभीत की सांसद और कैबिनेट मंत्री भारत सरकार मेनका संजय गांधी अपने कहे अपशब्दों के लिये अक्सर मीडिया की सुर्खिया बन जाती है। अगर किसी भी सरकारी कर्मचारी या अधिकारी की भ्रष्टाचार की शिकायत उनसे हुयी तो उसकी खैर नहीं होती और उन्हे मेनका के गुस्से का सामना करना पडता है। ऐसा ही कुछ बीते शुक्रवार को बरेली जनपद के बहेडी तहसील में हुआ जब मेनका का जनता दरबार लगा हुआ था। उन्होने जिला पूर्ति अधिकारी की भ्रष्टाचार की शिकायत कोटेदारों और ग्रामीणों से मिली जिसपर वहाॅ मौजूद पूर्ति निरीक्षक को मेनका के गुस्से का सामना करना पढा। मेनका ने भरी सभा में मौजूद पूर्ति निरीक्षक की जमकर फटकार लगायी जिसके बाद अब पूर्ति निरीक्षक ने मेनका पर अभद्रता करने का आरोप लगाया है। पीलीभीत में मेनका गांधी आज जिला पंचायत द्वारा 10 करोड के अधिक की योजनाओं का शिलान्यास किया गया इस दौरान उन्होने बरेली के पूर्ति अधिकारी की पोल खोलते हुये अपना पक्ष मीडिया के सामने रखा।
मेनका संजय गांधी अपने संसदीय क्षेत्र पीलीभीत में एक दिवसीय दौरे पर आज सुबह पहुॅची उन्हे यहाॅ जिला पंचायत द्वारा कराये जा रहे 10 करोड से अधिक के विकास कार्यो का शिलान्यास करना था। इस दौरान उन्होने मीडिया से रूबरू होते हुये बीते दिन बरेली में पूर्ति निरीक्षक की लगायी फटकार पर अपनी सफाई पेश की। मेनका ने बरेली के जिला अधिकारी पर भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाये है। उन्होने कहा कि बीते दिन वो बरेली के बहेडी तहसील में जनता दरबार लगाकर जन समस्याएं सुन रही थी। तभी उन्हे राशन कोटेदारों और ग्रामीणों ने शिकायत करी कि जिला पूर्ति अधिकारी बिना रिश्वत कोई काम नहीं करता। पूर्ति अधिकारी को हर दुकान से छः हजार पाॅच सौ रूप्ये हर महीने चाहिये होते है नही ंतो उनकी दुकानों को राशन नहीं मिलता। यह लोग भ्रष्टाचार के चलते गरीबों को राशन नहीं देते। वहीं जब उनसे पूछा कि उन्होने पूर्ति निरीक्षक को अपशब्द कहे जाने के सवाल पर चुप्पी साध ली।

मेनका संजय गांधी

पीलीभीत के गौशाला की बात पर बोली कि हम लोगो के पास हजारों एकड भूमि है गौशाला की जिसे हम लोग डेवलप करेगें। रही बात उसपर अवैध कब्जो की बात पर बोली कि उन्हे सबको डीएम साहिबा ने सीधा कर दिया है।

मेनका संजय गांधी

Home

Act to Grow

Do something. Evaluate results. Revise. Go again. 

Positivity

दो विभागो की खींचतान से बढ रहा कुपोषण, अब डीएम हुए सख्त ........

पीलीभीत। पीलीभीत की सांसद व केंद्रीय महिला एंव बाल विकास मंत्री मेनका संजय गांधी के क्षेत्र में कुपोषण पनप रहा है। बचपन को कुपोशण से बचाने के लिए केन्द्र सरकार ने अनूठा कदम उठाया है राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत 0 से 5 साल तक के कुपोशित बच्चो को इलाज के लिए जिला अस्पताल में पुनर्वास केन्द्र की स्थापना की गयी है लेकिन आईसीडीएस और स्वास्थ्य विभाग के बीच यह योजना फंस गयी है। दोनो विभागो की रसाकशी के चलते कुपोशण अपने पांव पसार रहा है। वर्तमान में करीब 38 हजार बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। इसमें से करीब 12 हजार बच्चे अतिकुपोषित हैं। यह आंकड़े वजन दिवस पर कराए गए सर्वे में सामने आए हैं। जिसके बाद जिलाधिकारी शीतल वर्मा ने दोनो ही विभागीय अधिकारियों की जमकर लताड लगायी। हालाकिं कुपोषण के लिये केंद्र सरकार राष्ट्रीय पोषण मिशन योजना संचालित कर रही है लेकिन हकीकत में कुछ और ही है।

कुपोषण से निजात पाने के लिए सरकार तो प्रयास कर रही है लेकिन जमीनी तौर पर विभागीय कमियों के चलते सभी प्रयास नाकाम साबित हो रहे हैं। बच्चों को कुपोषण मुक्त करने के लिए सरकार पोषण मिशन योजना चलायी। जिसमें वजन दिवस के अवसर पर जिले भर के 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों का वजन किया गया। मेडिकली कितने साल के बच्चे के लिए कितना वजन होने पर बच्चा सामान्य होगा। कितना वजन होने पर कुपोषित तथा कितने पर अति कुपोषित होगा, इस आधार पर बच्चों का वजन लिया गया। बीती जनवरी माह में वजन दिवस पर हुई तौल के बाद जनपद पीलीभीत में 12,699 बच्चे अति कुपोषित और 25882 बच्चे कुपोषित पाए गए थे। यानी कुल मिलाकर 38521 बच्चों में कुपोषण के लक्षण मिले हैं।
कुपोषित बच्चों के लिये जिला अस्पताल में पोषण पुनर्वास केंद्र संचालित किया जा रहा है। इसमें कुपोषित बच्चों का इलाज होता है। गर्भवती महिलाओं की सेहत का भी ख्याल रखते हुए उनको भोजन दिया जा रहा है। इस नववर्ष में जनवरी 2018 से अब तक लगभग 200 बच्चों का इलाज किया जा चुका है।
बडते कुपोषण की सबसे बडी जिम्मेदारी आईसीडीएस विभाग पर आती है जिसके द्वारा जिले में 1923 आंगनबाड़ी केंद्र चलाये जा रहे हैं। लेकिन यहाॅ आंगनबाड़ी केंद्र पर कर्मचारी नदारद रहते हैं। ऐसे में आंगनबाड़ी केंद्र पर तैनात स्टॉफ भी इसके लिए कम जिम्मेदार नहीं है। इन्ही के द्वारा गर्भवती महिलाओं को पौषटिक आहार व बच्चो को पौषटिक दलिया व सत्तू दिया जाता है जोकि अब डेयरी पर गाय-भैंस खाती है। आंगनवाडी कार्यकत्री इन्हे बच्चों में ना बाॅटकर डेयरी संचालकों को बेच देती है। वहीं जब आईसीडीएस के विभागीय अधिकारियों से बात हुयी तो उन्होने अपनी जिम्मेदारी से पडला झाडते हुये पूरा दोष स्वास्थ्य विभाग के उपर मढ दिया। तो वहीं स्वास्थ्य विभाग आईसीडीएस पर आरोप लगा रहा है।

Home

Quotations

Again and Again

*****

When you do the right thing, you get the feeling of peace and serenity associated with it. Do it again and again. 31 more words

Quotations