Tags » Geeta Bali

हाफ़ टिकट - All Songs of Half Ticket (1962)

फ़िल्म: हाफ़ टिकट / Half Ticket (1962)
गायक/गायिका: किशोर कुमार
संगीतकार: सलिल चौधरी
गीतकार: शैलेंद्र सिंह
अदाकार: किशोर कुमार, मधुबाला

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया ओ सांवरिया ओय 21 more words

Lata Mangeshkar

मुझी में छुप कर - Mujh Hi Mein Chhup Kar (Jailor)

फ़िल्म: जेलर / Jailor (1958)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: कामिनी कौशल, गीता बाली, अभि भट्टाचार्य

मुझी में छुप कर मुझी से दूर
ये कैसा दस्तूर रे मालिक ये कैसा दस्तूर

मैने मन की आँखों से तो देखा है सौ बार तुझे
लेकिन तन की आँखों से भी दे दर्शन इक बार मुझे
दर्शन दे फिर छिन ले अँखियाँ ये मुझको मंजूर
रे मालिक ये मुझको मंजूर
मुझी में छुप कर …

चली हवा जब तन को छू कर मैने तुझे पहचान लिया
तुझ बिन कोमल हाथ ये किसका होगा मैने जान लिया
धूप हवा सब रूप हैं तेरे सब में तेरा नूर
रे मालिक सब में तेरा नूर
मुझी में छुप कर …

सच्चे दिल से नाम लूँ तेरा निर्धन की यही पूजा है
अँधियारे में साथी कोई और न तुम बिन दूजा है
तेरी ख़ुशी में ख़ुश हैं दाता हम बन्दे मजबूर
रे मालिक हम बन्दे मजबूर
मुझी में छुप कर …

1950s

हम प्यार में जलनेवालों को - Hum Pyar mein Jalne Walon Ko (Jailor)

फ़िल्म: जेलर / Jailor (1958)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: गीता बाली, सोहराब मोदी

हम प्यार में जलनेवालों को
चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

बहलाये जब दिल ना बहले, तो ऐसे बहलायें
गम ही तो है प्यार की दौलत, ये कहकर समझायें
अपना मन छलनेवालों को, चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

प्रीत की अंधियारी मंज़िल में, चारों ओर सियाही
आधी राह में ही रुक जाये, इस मंज़िल का राही
काँटों पर चलनेवालों को, चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

1950s

जेलर - All Songs of Jailor (1958)

फ़िल्म: जेलर / Jailor (1958)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: गीता बाली, सोहराब मोदी

हम प्यार में जलनेवालों को
चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

बहलाये जब दिल ना बहले, तो ऐसे बहलायें
गम ही तो है प्यार की दौलत, ये कहकर समझायें
अपना मन छलनेवालों को, चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

प्रीत की अंधियारी मंज़िल में, चारों ओर सियाही
आधी राह में ही रुक जाये, इस मंज़िल का राही
काँटों पर चलनेवालों को, चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ
हम प्यार में जलनेवालों को …

फ़िल्म: जेलर / Jailor (1958)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: कामिनी कौशल, गीता बाली, अभि भट्टाचार्य

मुझी में छुप कर मुझी से दूर
ये कैसा दस्तूर रे मालिक ये कैसा दस्तूर

मैने मन की आँखों से तो देखा है सौ बार तुझे
लेकिन तन की आँखों से भी दे दर्शन इक बार मुझे
दर्शन दे फिर छिन ले अँखियाँ ये मुझको मंजूर
रे मालिक ये मुझको मंजूर
मुझी में छुप कर …

चली हवा जब तन को छू कर मैने तुझे पहचान लिया
तुझ बिन कोमल हाथ ये किसका होगा मैने जान लिया
धूप हवा सब रूप हैं तेरे सब में तेरा नूर
रे मालिक सब में तेरा नूर
मुझी में छुप कर …

सच्चे दिल से नाम लूँ तेरा निर्धन की यही पूजा है
अँधियारे में साथी कोई और न तुम बिन दूजा है
तेरी ख़ुशी में ख़ुश हैं दाता हम बन्दे मजबूर
रे मालिक हम बन्दे मजबूर
मुझी में छुप कर …

1950s

अजी बस शुक्रिया - All Songs of Aji Bas Shukriyaa (1958)

फ़िल्म: अजी बस शुक्रिया / Aji Bas Shukriyaa (1958)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: रोशन
गीतकार: फ़ारूख कैसर
अदाकार: जॉनीवाकर, गीता बाली, सुरेश

बेदर्दी,
(बेदर्दी, नज़रें मिलाके कह दे क्या है तेरी मर्ज़ी) – 2… 42 more words

1950s

ये नयी नयी प्रीत है - Ye Nai Nai Preet Hai (Pocketmaar)

फ़िल्म: पॉकेटमार / Pocketmaar (1956)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, तलत महमूद
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: देव आनंद, गीता बाली

ये नयी नयी प्रीत है
तू ही तो मेरा मीत है
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां

समां है ये प्यार का
नये इक़रार का
ना हो कोई जहाँ
बना लें वहीं आशियां

ये नयी नयी प्रीत है

(नज़र तुमसे मिली ऐसे
के हम शर्मा गये
पुकारा जब तेरे दिल ने
तो फिर हम आ गये) – 2
कसम तुम्हें प्यार की
इसी इक़रार की
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां
समां है ये प्यार का

(निगाहों ही निगाहों में
कहो क्या कर दिया
मेरे दामन को फूलों से
ये किसने भर दिया) – 2
चलो चल दें वहाँ
ज़मीन और आसमां
गले मिलते जहाँ
बना ले वहीं आशियां

ये नयी नयी प्रीत है
तू ही तो मेरा मीत है
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां

समां है ये प्यार का
नये इक़रार का
ना हो कोई जहाँ
बना लें वहीं आशियां
ये नयी नयी प्रीत है

1950s

तेरी गली कैसे आऊँ साजना - Teri Gali Kaise Aaoon Sajna (Pocketmaar)

फ़िल्म: पॉकेटमार / Pocketmaar (1956)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: नादिरा, देव आनंद, गीत बाली

तेरी गली कैसे आऊँ साजना
जागे सारा घर-बार
नीचे बैठा चौकीदार
देखे मुआ पहरेदार
तेरी गली कैसे …

पतंग बन जाऊँ तो उड़कर आऊँ
सजना दरस तेरा आ के मैं पाऊँ
रसिया ये सारा रोके रहूँ मैं तेरी हो के
मैं तेरा दर छोड़के न जाऊँ रसिया
तेरी गली कैसे …

तू हो मिले एक बार
बातें कर लूँ हज़ार
जले मुआ पहरेदार
तेरी गली कैसे …

तरसते हैं नयना बरसते हैं नयना
सजन मेरा दुनिया पे बस न चले
ये पपीहा बोले तो दिल मेरा डोले
सजन मन लगन में जले
तू ही आजा एक बार
लेके मन की बहार
मेरी सुन के पुकार
तेरी गली कैसे …

1950s