Tags » Hasrat Jaipuri

जानवर - Songs of Jaanwar (1965)

फ़िल्म: जानवर / Jaanwar (1965)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: शैलेंद्र सिंह
अदाकार: शम्मी कपूर, राजश्री

लाल छड़ी मैदान खड़ी, क्या खूब लड़ी, क्या खूब लड़ी
हम दिल से गए, हम जाँ से गए
बस आँख मिली और बात बढ़ी

(वो तीखे तीखे दो नैना, उस शोक से आँख मिलाना था
देदे के क़यामत को दावत, एक आफ़त से टकराना था) – 2
मत पूछो हम पर क्या गुज़री,
बिजली सी गिरी और दिल पे पड़ी
हम दिल से गए, हाय, हम जाँ से गए…

(तन तनकर ज़ालिम ने अपना, हर तीर निशाने पर मारा
(है शुक्र की अब तक ज़िंदा हूँ,
मैं दिल का घायल बेचारा) – 2
उसे देखके लाल दुपट्टे में,
मैने नाम दिया है लाल छड़ी
हम दिल से गए, हाय, हम जाँ से गए…

(हम को भी ना जाने क्या सूझी,
जा पहुंचे उसकी टोली में
(हर बात में उसकी था वो असर,
जो नहीं बंदूक की गोली में) – 2
अब क्या होगा, अब क्या कीजे,
हर एक घड़ी मुश्किल की घड़ी
हम दिल से गए, हाय, हम जाँ से गए…

फ़िल्म: जानवर / Jaanwar (1965)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: शम्मी कपूर, राजश्री

मेरी मुहब्बत जवाँ रहेगी
सदा रही है, सदा रहेगी
तड़प तड़प कर यही कहेगी
सदा रही है, सदा रहेगी

न तुम सा कोई ज़माने भर में, ओ ओ
तुम्हेएं को चाहा मेरी नज़र ने
तुम्हें चुना है, तुम्हें चुनेगी
सदा रही है, सदा रहेगी

जो आग दिल में लगी हुई है, ओ ओ
यही तो मंज़िल की रोशनी है
न यह बुझी है, न यह बुझेगी
सदा रही है, सदा रहेगी

तुम्हरी पहलोओ में गर मरे हम, ओ ओ
तो मौत कितनी हसीन होगी
चिता में जल कर भी ना मिटेगी
सदा रही है, सदा रहेगी

फ़िल्म: जानवर / Jaanwar (1965)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: शम्मी कपूर, राजश्री

(हो, तुम से अच्छा कौन है,
दिल लो जिगर लो जान लो,
हम तुम्हारे हैं सनम,
तुम हमे पहचान लो) – 2

(मैं हूँ वो झोंका, मस्त हवाका
संग तुम्हारे, चलता रहूँगा
जब से हुई है, तुम से मोहब्बत
मिलता रहा हूँ, मिलता रहूँगा) – 2
हू…, तुम से अच्छा कौन है…

(सीने में दिल है, दिल में तुम्ही हो
तुम में हमारी, छोटी सी जान हैं
तुम हो सलामत, हम को नहीं ग़म
तुम से हमारी, दुनिया जवान हैं) – 2
हू…, तुम से अच्छा कौन है…

मर के भी देखा, मर ना सके हम
दिलकी लगी ने, हमको बचाया
तेरी नज़र का, जादू है शायद
जिसने हमे फिर, ज़िंदा बनाया
हू…, तुम से अच्छा कौन है…

हो, तुम से अच्छा कौन है
दिल लो जिगर लो जान लो
हम तुम्हारे हैं सनम
तुम हमे पहचान लो

1960s

1026. Rafi's Peppy Songs: chheRaa mere dil ne taraanaa...

From: Asli Naqli (1962)
Maiden release in Bombay at Minerva Cinema

Music: Shankar-Jaikishen
Lyrics: Hasrat Jaipuri

Eternally Romantic Rafi’s Peppy Song: ChheRaa mere dil ne… 574 more words

Rafi's Peppy Song

जान-ए-चमन शोला-बदन - Jaan-e-Chaman Shola Badan (Gumnam)

फ़िल्म: गुमनाम / Gumnaam (1965)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, शारदा
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: हेलन, मनोज कुमार, नंदा, मेहमूद

जान-ए-चमन शोला-बदन पहलू में आ जाओ 16 more words

1960s

इस दुनिया में जीना हो तो - Is Duniya Mein Jeena Ho To (Gumnam)

फ़िल्म: गुमनाम / Gumnaam (1965)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: हेलन, मनोज कुमार, नंदा, मेहमूद

इस दुनिया में जीना हो तो सुन लो मेरी बात
ग़म छोड़ के मना लो रंग रेली
और मान लो जो कहे किट्टी केली

जीना उसक जीना है जो हँसते गाते जीले
ज़ुल्फ़ों की घनघोर घटा में नैन के बादल पीले
ऐश के बंदों ऐश करों तुम छोड़ो ये ख़ामोशी
आई हैं रंगीन बहारें लेकर दिन रंगीले

मैं अलबेली चिंगारी हूँ नाचूँ और लहराऊँ
दामन दामन फूल खिलाऊँ और ख़ुशियाँ बरसाऊँ
दुनिया वालों तुम क्या जानो जीने की ये बातें
आओ मेरी महफ़िल में मैं ये दो बातें समझाऊँ

Lata Mangeshkar

गुमनाम है कोई बदनाम है कोई - Gumnam Hai Koi (Gumnam)

फ़िल्म: गुमनाम / Gumnaam (1965)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: हेलन, मनोज कुमार, नंदा, मेहमूद

गुमनाम है कोई बदनाम है कोई
किसको ख़बर कौन है वो अनजान है कोई
गुमनाम है कोई…

किसको समझें हम अपना कल का नाम है इक सपना – 2
आज अगर तुम ज़िन्दा हो तो (कल के लिए) – 2 माला जपना
गुमनाम है कोई…

पल दो पल की मस्ती है बस दो दिन की हस्ती है – 2
चैन यहाँ पर महँगा है और (मौत यहाँ) – 2 पर सस्ती है
गुमनाम है कोई…

कौन बला तूफ़ानी है मौत को ख़ुद हैरानी है – 2
आए सदा वीरानों से जो (पैदा हुआ) – 2 वो फ़ानी है
गुमनाम है कोई…

Lata Mangeshkar

गुमनाम - Songs of Gumnaam (1965)

फ़िल्म: गुमनाम / Gumnaam (1965)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: हेलन, मनोज कुमार, नंदा, मेहमूद

गुमनाम है कोई बदनाम है कोई 30 more words

Lata Mangeshkar

जागो सोने वालों सुनो मेरी कहानी - Jaago Sonewalon Suno Meri Kahani (Bhoot Bungla)

फ़िल्म: भूत बंगला / Bhoot Bungla (1965)
गायक/गायिका: किशोर कुमार
संगीतकार: आर. डी. बर्मन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: तनुजा, मेहमूद, आर. डी. बर्मन

जागो सोने वालों सुनो मेरी कहानी – 2
क्या अमीरी क्या ग़रीबी भूलो बातें पुरानी
जागो सोने वालों…

टूटा जो आज दिल का वो साज़ रोने लगा एक बदनसीब
हँसने लगे दुनिया के लोग कोई हुआ बर्बाद
जागो सोने वालों…

ये ऊँच नीच दुनिया के बीच आख़िर ये क्यों बोलो कोई
जो है भला वो क्यों बुरा हम तो न समझे ये राज़
जागो सोने वालों…

आपस में ग़म बाँटें जो हम फिर न रहें ऐसे सितम
कहने को इंसान हैं वो इन्सानियत कहाँ है
जागो सोने वालों…

1960s