Tags » Hindi Poems

नया सवेरा

एक दिन होगा ‘नया सवेरा’
जिस दिन होगा खुद से तेरा मिलना

चलना है तुजे चलना है
ज़िन्दगी की राहों पे चलते रहना है

परिश्रम है तेरा मंत्र

HINDI POEMS

ये पल भी बीत जायेगा...

चांदनी रात में सागर किनारे ,

कोहीनूर से चमकते आसमान में तारे ,

देखकर जिनको दिल लहरों सा मचल जायेगा ,

बस सुबह तक रहेंगे ये नज़ारे ,

थोड़ा बेसब्र , थोड़ा सुकून देकर

ये पल भी बीत जायेगा .

लम्हों की बारिश में भीग जाओ यारों ,

न जाने कब ये सावन बीत जायेगा ,

थोड़ा हँसाकर, थोड़ा रुलाकर ,

ये पल भी बीत जायेगा .

टूटते तारों के इंतज़ार में ,

दिल की ख्वाइशें  अधूरी रह जाएँगी,

गर बढते रहे कदम तो ,

मंज़िल भी मिल जाएगी ,

थोड़ी सफलता , थोड़ी सबक सिखाकर ,

ये पल भी बीत जायेगा.

Hindi Poems

माँ मेरी माँ

माँ के पेट से अब मैं आना चाहूँ
सारी दुनिया अब देखना चाहूँ

माँ के आँचल में है जग सारा
माँ की बातों में लगे सब प्यारा

माँ के जज़्बात  मैं समज न पाऊं
माँ के अरमान पूरे कर न पाऊं

भले  ही माँ मुझे देख न पाए
फिर भी जतन मेरा करती हमेशा

माँ की बात मैं समजना चाहूँ
जैसे समजती उसे मेरी सारी बातें

कभी वो रोती कभी वो हसती
मेरी पीड़ा वो हरपल थी सहती

मेरे लिए वो रातभर जगती
मेरी भूख-प्यास पूरा करती

मेरे इंतज़ार में अब वो थक गई
मेरे स्पर्श को  अब वो तरस गई

मैं भी चाहूँ अब देखना तुजको
तेरे हाथों में खेलना अब तो

पकड़ना चाहूँ मैं तेरी उँगलियों को
महसूस करना चाहूँ तेरी धड़कनों को

माँ मेरा जीवन बस तु ही तु
मेरी हर खुशियाँ भी तु ही तु

तेरे चरणों में ये जीवन न्योछावर
तेरी ममता से ही पाऊं मैं जीवन सारा

HINDI POEMS

होमवर्क

जो न करू होमवर्क, टीचर डांटे दिनभर
इतना मिले होमवर्क, पूरा न हो रातभर

जब मैं खेलु जब मैं गाऊं, मम्मी पुछे ‘होमवर्क’?
चुप चुपके जब TV चलाऊ, छोटा भीम भी पुछे ‘होमवर्क’? 17 more words

HINDI POEMS

ज़िन्दगी एक गीत

ज़िन्दगी एक मधुर गीत है
मानो वो सुरमई संगीत है

इसके ताल पे तुम गुनगुना लो
पल हसी में यूँही बिता दो

इसकी धून पे नाचना है
सबके दिलो में झाँखना है

मीठी मधुर एक शाम है ज़िन्दगी
आधी अधूरी दिलों की दास्ताँ हैं ये ज़िन्दगी

इसमें डूब जाओं
तुम यूँही मुस्कुराओ

अनजाना सा एक हसीन राज़ है ज़िन्दगी
बेगाना सा एक हमराज़ है ज़िन्दगी

इसके सफ़र में चलते रहना
खुदा पे भरोसा रखते चलना

होंसला कभी तु न हारना
मुश्किलों में तुम उसे याद करना

मुश्किलें तुमे तोड़ न पाए कभी
जस्बा वफ़ा का छुट न पाए कभी

ज़िन्दगी के सफ़र में तुम सदा मुस्कुराना
ख्वाहिसों के गीत सदा गुनगुनाना

ज़िन्दगी के रंगों को तुम
एक ही ताल में मत जीना

इसमें तुम सात सुरों के
रंग भर देना

गाते गाते कभी थक न जाना
राज़ ये ज़िन्दगी के तुम सुलझाना

नाचते गाते, यूँही गुनगुनाते
ज़िन्दगी को तुम, हमेशा जीते रहना

© – कर्ता™

HINDI POEMS