Tags » HINDI Shayari

तकदीर ही एसी रूठी

सारी उम्र जो शख्सियत सबको हँसाती रही है
आज आईने में खुद को यूँ ही रोते देख रही है

इन साँसो को न कोई समझ पाया ना समझ पाएगा
ना ठीक से चल पा रही है ना ही रुक पा रही है

यूँ तो हमने पूरी शिद्दत से मोहब्बत की है उनसे
पर ये तकदीर ही एसी रूठी है जो मान नही रही है

Hindi

Kabhi Aisa Ho

Raat ki shurwat sapno se ho
Subha ka safar apno se ho
Khusiyaa humare raste me ho
Gum ki humpe nazar na ho

Paariyon ki mehefil ho… 84 more words

Love

कहाँ हूँ मैं

जो कहते थे कभी ना मिलना
वो रोज ख्वाबों में आते हैं

देखा नहीं जिसे एक जमाने से
तारे बनकर आँखों में समा जाते हैं

यूँ वादा करके वो हमसे मुकरे
कि सारे रास्तों पे हम ठोकर खाते हैं

इंतजार है उनके फिर लौट आने का
इस चाह में आँखे खोलकर सो जाते हैं

फिर वही सुबह होगी फिर वही सहर
जहाँ भी देखो खुद को अकेला पाते हैं

अजब हालात हैं इस तन्हाई के भी
उसे खोजते खोजते हम खुद से खो जाते हैं

Hindi Shayari

Hindi Love Poem for Wife - Tum Ho to

तुम हो तो है हस्ती हमारी
तुम से ही है मेरी खुशियाँ सारी
तेरी एक हंसी पर मैँ खुद जाऊ वारी
सलामत रहे ये जोड़ी हमारी
तू करें जब श्रृंगार डाल के साड़ी
क्या बताऊं बंद हो जाये धड़कनें सारी
तू शीतल तू सुंदर तू कितनी प्यारी
तुम से है मुहब्बत ओ बीवी हमारी

– अनुष्का सूरी

Hindi Love Poem For Her

आस लगा बैठे

मालूम हैं हमे वो वापस नहीं आएँगे
अमावस की रात हम चाँद देखने बैठे

खुदा ने कहा कि वो तेरा कभी ना होगा
इस बात की हम खुदा से शर्त लगा बैठे

तमाम उम्र ये आँखे जलती रही इंतजार में
वो लौट आने का हमसे मजाक कर बैठे

यूँ तो सब कुछ मिला इस जिन्दगी में
जो कभी मिल ना सका उसकी आस लगा बैठे ||

Hindi Shayari

Shayari

Pata nahi kyu…
Par kabhi kabhi aappe béshumar pyar aata hai…
Itna k lafzo mai bayan nahi kiya jata hai!

doobe rahte hai aapke pyar mai iskadar… 15 more words

Hindi Poems