Tags » Indian Girl

Are Shaadi Mubarak and Kalyana Lakshmi schemes promoting gender inequality?

When you start looking at Child Rights in detail, you will start seeing all the interlinked socio-economic problems in the society we created in the modern world. 1,323 more words

Child Rights

Cow tries to stop thugs stabbing young Indian girl to death in 'honour killing' (Photos)

The girl, named as Seema Gujjar, was stabbed multiple times and killed in Gwalior, India, in what was believed to be an ‘honour killing’.

In the 26-second video clip uploaded on Liveleak, the cow becomes angry after it saw the men and tried to prevent the dreadful attack from continuing by immediately pouncing on the pair. 128 more words

CRIME AND SECURITY

The Unending Male Entitlement Over Female Bodies

This happened just yesterday as I was returning home after attending a thought provoking seminar by Hyderabad Collective, hearing from rural journalist P. Sainath and Prof. 986 more words

Childhood

जवानी उनपे चढ़ी

अर्ज किया है दोस्तों,
की जवानी उनपे चढ़ी,
और बर्बाद हम हो गए.
लुटा हमें उसने जी भरकर,
और जमाने भरके,
गुनाहगार हम हो गए.

परमीत सिंह धुरंधर

Love

That little girl

That little girl, Oh such a spirit was she. Where did  she go? She learnt the ways of world and fled.Fled deep into the chasms of her own soul and hid. 253 more words

General

हमने कबूतरों को छोड़ दिया है

हमने कबूतरों को छोड़ दिया है,
उड़ाना अब छज्जे से.
डोली उनकी उठ गयी,
अब क्या रखा है मोहल्ले में?
मेरा सारा प्रेम-रस ले कर,
वो सींच रही बाग़ किसी का.
हुस्न का ये रंग देख कर,
उचट गया है मन जीने से.

परमीत सिंह धुरंधर

Love

अब तेरे पाँवों में बेड़िया नहीं, खनकती चूड़ियाँ हैं

सितारों से भी जयादा तन्हाई लिए हूँ,
एक उदासी सी बैठ गयी है जिंदगी में,
तेरे जाने के बाद.
मैं आज तक वो दर्द, वो बेबसी,
वो गहराई लिए हूँ.
जवानी तो उसी दिन ढल गयी,
कहानी भी जिंदगी की खत्म हो गयी,
जब तूने राहें बदल लीं.
मैं तो आज तक वो निशाँ तेरे क़दमों के,
संजोएं बैठा हूँ.
साँसे तो है, बस सिसकती हुई,
तेरे लौट आने की आस लगाये।
इन्हे कौन बताये?
की अब तेरे पाँवों में बेड़िया नहीं,
खनकती चूड़ियाँ हैं.
मैं आज भी ये राज इनसे,
छुपाये बैठा हूँ.

परमीत सिंह धुरंधर

Love