Tags » Laddakh

एक अकेली लड़की और ज़ोजि ला कारगिल का सफर

कही किसी मूवी में डायलॉग सुना था “ज़िन्दगी में कुछ बन ना हो, कुछ हासिल करना हो, कुछ जितना हो तो अपने दिल की सुनो”. ऐसे ही दिल की सुनके शुरू किया था सफर जम्मू कश्मीर का, पर बिना जोखिम लिए कहा कुछ हासिल होता है.

Leh Laddakh

कश्मीर के रंग

28th June 2016 : अपने सफर को आगे बढ़ाते हुए सुबह 7 बजे निकली मैं  सोनमर्ग का लक्ष्य लेकर. हल्का सा कोहरा, जून में नवंबर वाली ठण्ड और रास्ते के साथ साथ चलती झेलम नदी का मजा लेते हुए शुरू हुआ ये सफर. 8 more words

Leh Laddakh

जम्मू कश्मीर में स्वागत है

जुलाई 2016 और सेप्ट 2017 इस सवा साल में ज़िन्दगी इतनी बदल जाएगी लगा ही नहीं था. बदलना तो ये शुरू तभी से हो गयी थी जब लद्दाख जाने का सोचा था पर उसके बाद भी एक एक कर जो होता चला गया उसके लिए मैं तैयार नहीं थी.

Leh Laddakh

Leh

Check out the latest project- Leh – Zanskar – Srinagar

Do leave your reviews :)

Day-2

From the Balcony of the Tiny Fort

His Gun… 259 more words

Camera

Leh - Land of Endless Hills

You may have been to hilly places but the beauty that surrounds Leh is so mesmerizing that it can not be related to any second place. 449 more words

India

लद्दाख में चीनी घुसपैठ की कोशिश, पत्थरबाजी, चीन का इंकार

चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। उसके सैनिकों ने लद्दाख में पेंगॉन्ग लेक के पास दो इलाकों में घुसपैठ की कोशिश की। इसे भारतीय फौज ने नाकाम कर दिया। भारत की कार्रवाई के बाद चीनी सैनिकों ने पथराव किया। इसके चलते जवानों को चोटें आईं। चीन के भी कुछ सैनिकों के घायल होने की खबर है।
दूसरी ओर घुसपैठ की इस घटना पर चीन ने कहा कि उसे इस बात की जानकारी नहीं है कि लद्दाख में दोनों देशों के सैनिकों के बीच कोई झड़प हुई। बता दें कि 16 जून से सिक्किम के डोकलाम में भारत-चीन के बीच विवाद चल रहा है। भारत कह चुका है कि बातचीत तभी होगी, जब चीन की सेनाएं वापस जाएं। उधर, चीन ने कहा है कि भारत उसकी सीमा में जबर्दस्ती दाखिल हुआ है। लिहाजा उसकी सेना को पीछे जाना चाहिए।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, 15 अगस्त को पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारत के दो इलाकों फिंगर फोर और फिंगर फाइव में सुबह 6 बजे से 9 बजे के बीच घुसपैठ की कोशिश की। लेकिन दोनों ही बार भारतीय जवानों ने इसे नाकाम कर दिया।
भारतीय फौज के रास्ता रोक देने के बाद चीन के सैनिकों ने ह्यूमन चेन बनाई और पथराव किया। भारतीय जवानों ने भी इसका जवाब दिया। इससे दोनों तरफ के जवानों को चोटें आईं। ड्रिल के बाद दोनों देशों की फौजें अपनी-अपनी पोजिशन पर लौट गईं।

चीन ने किया इंकार

घुसपैठ के चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन हु चुनयिंग ने कहा कि लद्दाख में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई किसी झड़प की जानकारी नहीं है। हम बॉर्डर पर शांति चाहते हैं। हमारी सेना अपने हिस्से में पेट्रोलिंग करते हैं। हमारी मांग है कि भारत एलएसी पार करने से बचे और इस बारे जो समझौते हैं, उनका दोनों देश सम्मान करें।

भारत ने किया था हिस्से पर दावा

1990 के दशक के दौरान भारत ने इलाके में अपना दावा किया था। इसके बाद चीनी आर्मी ने यहां एक सड़क बना ली थी और इसे अक्साई चिन का हिस्सा बताया था। चीन फिंगर फोर तक भी रोड बना चुका है जो लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल से महज 5 किमी दूर है।
पेंगॉन्ग लेक के उत्तरी और दक्षिणी तट पर चीन लगातार पैट्रोलिंग करता रहा है। लेक भारतीय सीमा से 45 किमी तो चीन सीमा से 90 किमी दूर है।

चीन बॉर्डर पर सैनिकों की तैनाती बढ़ी
भारत ने चीन से सटे सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के 1400 किलोमीटर लंबे साइनो-इंडिया बॉर्डर पर सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। भारत का कहना है कि चीन हमारे इलाके में घुसपैठ कर रहा है। वहां भारत के 350 सैनिक जमे हुए हैं।

Featured

Bike Trip to Nubra Valley

I have been lucky to get a chance to travel to Leh many times and being an explorer I have always been visiting new places. While I visited Manali earlier, I used to be curious to know how would things look after crossing Rohtang and this curiosity led to visiting Leh by crossing Rohtang. 936 more words

Life