Tags » Life Imprisonment

verses

1These are the words of Jeremiah son of Hilkiah, one of the priests from the town of Anathoth in the land of Benjamin. 2The lord first gave messages to Jeremiah during the thirteenth year of the reign of Josiah son of Amon, king of Judah. 569 more words

God

Head of Tehran's Revolutionary Court: "Rouhani's brother must be condemned to life imprisonment"

Source: BBC Persian

Speaking about the so called “salary scandal”, the head of the Tehran’s Revolutionary Court Moses Ghazanfarabadi, said that the brother of Hassan Rouhani, Hossein Fereydoon, should be condemned to life imprisonment… 63 more words

Iran

Ισόβια σε 56χρονο για τη δολοφονία Κύπριας του Λονδίνου πριν 34 χρόνια

Σε ισόβια κάθειρξη καταδίκασε το Κακουργιοδικείο του Λονδίνου τον 56χρονο Τζέιμς Γουόρνοκ για το βιασμό και τη δολοφονία της 17χρονης Κύπριας Γιαννούλας Γιαννή, πριν από 34 χρόνια. Ο δράστης θα εκτίσει ποινή 25 ετών.

CYPRUS

SEXUAL OFFENCE - COMPLAINT AFTER CHILD THREATENED BY MOTHER

S v GANGA 2016 (1) SACR 600 (WCC)

Sexual offences — Proof of — Admissibility of complaint made by complainant — Complaint made only after child victim threatened by mother — Rule that evidence of complaint inadmissible where not made voluntarily should not be applied inflexibly — Careful examination of all facts and circumstances required. 636 more words

CHILD

LIFE IMPRISONMENT FOR YOUTHFULL OFFENDER

S v VANANDA 2016 (1) SACR 592 (WCC)

Sentence — Life imprisonment — When appropriate — Young offender displaying propensity to commit violent crimes by brazenly breaking into home of frail, elderly man and strangling him — Life imprisonment not shockingly inappropriate. 393 more words

LIFE IMPRISONMENT

11 Imprisoned for Life in India for Gulbarg Massacre During 2002 Gujarat Riots

A court in India sentenced 11 people to life in prison Friday, for their involvement in a massacre during communal riots in the western state of Gujarat in 2002. 122 more words

गुलबर्ग सोसायटी केस में 11 दोषियों को उम्रकैद, 12 को 7 साल कैद

14 साल के बाद शुक्रवार को गुलबर्ग सोसायटी के गुनहगारों को सजा सुनाई गई। लोगों से खचाखच भरी स्पेशल एसआईटी कोर्ट में जज पीबी देसाई पर पीड़ित और दोषी पक्ष की निगाहें टिकी हुई थी। जज साहब ने 11 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। वहीं 12 दोषियों को सात साल की सजा और एक दोषी को 10 साल की सजा सुनाई।

जाकिया जाफरी ने यह कहा

अदालत के फैसले पर याची जाकिया जाफरी ने कहा कि वो अदालत के फैसले से खुश नहीं है। वकील से सलाह के बाद ऊपरी अदालत में अपील करुंगी। गुलबर्ग सोसायटी में बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे। लेकिन 11 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। जाकिया जाफरी ने कहा कि अभी लड़ाई बाकी है। इसे मैं न्याय नहीं कह सकती हूं। गुनाह के लिए जिम्मेदार लोग बेहद ही हिंसक थे। ये समझ के बाहर है कि अदालत ने एक तरह के अपराध के मामले में गुनहगारों को अलग-अलग सजा दी है।

National News