Tags » Lucknow

Wazwan Restaurant // Desi Yum

If you have never tried Lucknowi Kebabs . Then you’re definitely missing out on so much . Lucknow being the land of Nawabs and Awadhi Cuisine , definitely has a lot of mouth watering dishes that give you the complete lucknowi zing . 377 more words

India

Lucknow: The City of Nawabs and Kebabs

Famous for its Nawabi artfulness and delicious cuisine, Lucknow is a one of a kind blend of the antiquated and the modern. It is home to unprecedented landmarks delineating a captivating mix of old, provincial and colonial engineering. 599 more words

Asia

इरम एजुकेशनल सोसाइटी द्वारा सम्पन्न हुआ कवि सम्मेलन एवम् मुशायरा एक शाम गंगा जमुनी तहजीब के नाम - शाश्वत मिश्रा

जहाँ सूर्य का प्रकाश नही पहुँचता, वहाँ कवि की कविता, नज्म, गजल और उसकी शायरियाँ पहुँच जाती है। ऐसा ही कुछ नजारा दिखा इरम वेलफेयर अवार्डस में। ं जहाँ शाम से लेकर रात तक मुशायरे और शायरियों की आवाज वहाँ पर उपस्थित लोगों के कानों को सुशोभित कर रही थी यह शाम बेहद खास थी, क्योंकि इस शाम को यादगार बनाने यहाँ पर मौजूद थे; राहत इंदौरी। जिन्होंने यहाँ पर उपस्थित युवाऔं और बुजुर्गो दोनो को अपने आप में बाँध लिया। इनकी शायरियों ने यहाँ पर उपस्थित सभी
लोगों के शरीर में रक्तप्रवाह बढंाने का कार्य किया । राहत इंदौरी का साथ देने के लिए यहाँ पर अदिति महेश्वरी, ओम निश्चल, अशोक चक्रधर, विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, काशीनाथ सिहं, रामदरश मिश्र, विश्वनाथ त्रिपाठी, नित्यानन्द त्रिपाठी, समेत कई कवि मैाजूद थे।

News

ख्वाहिशों को ख्वाबों के सहारे पाया जा सकता है - कमला मिश्रा शाश्वत मिश्रा

सारांश ग्रुप और एजुकेशनल ट्रस्ट द्वारा आयोजित पुस्तक विमोचन प्रोग्राम में पुस्तक की लेखिका कमला मिश्रा ने अपनी पुस्तक “ ख्वाब औेर ख्वाहिशों “ के माध्यम से लोगों में ख्वाहिशों के सहारे ख्वाबों को पाने की बात कही है। उन्होने यह भी कहा कि यह पुस्तक आज की पीढी को ध्यान में रखकर लिखी गयी है और इस पुस्तक को पढ़कर आज का युग काफी कुछ सीख सकता है। बाॅलीवु़़़ड सितारों की मौजूूदगी दिखी बाॅलीवुड अभिनेता रजनीश दुग्गल, राजीव खंडेलवाल, विशाल मिश्रा, गायक रिषभ टंड़न, अभिनेता मीनाझी दीक्षित, फिल्म निर्माता संजीव जायसवाल, लेखक मनोज मंुतशिर, मशहूर काॅमोडियन राजीव निगम समेत कई लोग मौजूद रहे।
राजनेताओं का भी दिखा असर प्रोग्राम में डिप्टी सी.एम. दिनेश शर्मा कानून मंत्री ब्रजेश पाठक भी मौजूद थे। प्रोग्राम में ब्रजेश पाठक ने अपने भाषण में अपनी और दिनेश शर्मा के राजनीतिक सफर के बारे में बात की । तथा दिनेश शर्मा जी ने बताया कि माता पिता एक छाते की तरह होते है जो हमें मुसीबतों से बचाते है। और उन्होेने वहीँ पर मौजूद मनोज मुंतशिर से सवाल पूछा कि आप अमेठी के ब्राह्मण है तो मंुतशिर क्यों लिखते है ? इस पर मनोज ने कहा कि यह उनका उपनाम है इसलिए उन्होने मुंबई पहुँचकर इसे अपने नाम से जोड लिया। इस जवाब को सुनकर दिनेश शर्मा ने गाँधी परिवार कि ओर इशारा करते हुए कहा कि मुक्षे लगा कि अमेठी वालों को जाति बदलने की आदत है। कमला मिश्रा मेरी माँ की तरह है -(राजीव निगम) राजीव निगम ने अपने भाषण में कहा कि कमला मिश्रा मेरी माँ की तरह है और वह मेरे दिल के काफी करीब हैं वह एक बेहतरीन लेखिका है ंऔर हम सबके लिए एक उदाहरण हैं ।

News

174 साल बाद दिखा अनोखा चंद्रग्रहण - शाश्वत मिश्रा

कल पूरी दुनिया एक अनोखे चंद्रग्रहण को देख रही थी जिसमें बच्चों से लेकर बूढों तक ने हिस्सा लिया। इस चंद्रग्रहण को दिखाने के लिए सरकार ने नक्षत्रशाला की टीम को क्लाॅक टावर पर तैनात किया था। जहाँ पर नक्षत्रशाला की 10 सदस्ययी टीम ने टेलीस्कोप लगाकर लोगों को चंद्रग्रहण को दिखाया और इसके बारे में बताया भी।इस मौके पर लखनऊ के हर कोने से हजारों की संख्या में लोग क्लाॅक टावर पर पहुँचे और चंद्रग्रहण का आनंद लिया। जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच में आती है तब चंद्रग्रहण होता है और इस चंद्रग्रहण को दिंखाने के लिए 5 टेलीस्कोप लगाए गए थे। – प्रिया (नक्षत्रशाला टीम)

News

KASHMIRI CHAI : An exquisite wonder of Lucknowi Zaika -Ananya Srivastava

This time my quest for the Lucknowi Zaika brought me to a famous shop named Al-Madina Lassi and Kashmiri Chai located near Akbari Gate in the locality of Chowk (Old Lucknow), that serves the aromatic ” Kashmiri Noon Chai “. 175 more words

MVMI

Chandni.. the one who fought back!!

The state of safety of our sisters and daughters is no alien topic for any Indian these days. Spotting heart-wrenching, brutal and inhuman molestation and rape cases is not a difficult task these days. 365 more words