Tags » Mahatma

जब बापू बन गए हज्जाम!

आज हम आपको बापू यानी राष्ट्रपिता यानी महात्मा गाँधी के बारे में एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहे हैं जो आपने शायद ही पहले कभी सुनी हो. ये कहानी है बापू के बापू बनने के पहले की, यानी जब वो बापू नही बने थे और आपकी हमारी तरह एक आम इंसान ही थे.
उन दिनों वो दक्षिण अफ्रीका में थे, जहाँ वो अपनी नयी-नयी शुरू हुई वकालत के काम के सिलसिले में गए थे.

एक बार वो अपने बाल कटवाने एक हजाम की दूकान पर गए. हालाँकि दूकान तो सही थी, लेकिन हजाम था फिरंग, मतलब गोरा, मतलब की पूरा वाइट. उसने अपने दूकान में काले नस्ल के इंसान के बाल काटने से इनकार कर दिया. उस वक़्त दक्षिण अफ्रीका में काले और गोरों के बीच रंगभेद अपने चरम पे था और काले लोगों को उस समय उसी दृष्टि से देखा जाता था जैसा हिन्दुस्तान में ऊँची जात वाले, नीची जात वालों को देखते थे. जैसे हमारे यहाँ अछूत थे, वैसे ही अफ्रीका में काले. तो जब हजाम ने गाँधी के बाल काटने से इनकार कर दिया तब गाँधी तो बुरा तो लगा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी. उन्होंने वो किया जो हम और आप शायद सपने में भी ऐसा करने का न सोचे. अगले ही पल उन्होंने एक कैंची खरीदी, घर आये और आईने के सामने खडे हो कर अपने बाल खुद काटने शुरु कर दिए. सर के आगे के बाल तो ठीक-ठाक कट गए लेकिन सर के पीछे के बाल सही से काटने में गाँधी गच्चा खा गए.

अगले दिन सुबह जब गाँधी कचहरी पहुँचे तो सब लोग देख कर हँसने लगे. एक सज्जन ने फब्तियाँ कसी, “क्यूँ गाँधी, तुम्हारे बालों को क्या हुआ, चूहे खा गए?”
गाँधी ने कहा, ” गोरे हजाम ने मेरे काले बाल काटने से मना कर दिया, तो मैंने सोचा की क्यों न अपने बाल मै खुद ही काट लूँ.”

किसी ने कोई जवाब नहीं दिया और गाँधी आगे बढ़ गए. गाँधी आगे बढ़ गए, क्यूंकि उन्हें बोहोत आगे जो बढ़ना था,जाने-अनजाने में बापू जो बनना था.

At the feet of Gandhi

How could I be in India without taking at least one photo of a statue of India’s beloved Mahatma? It seemed every Indian vacationing in Pondy wanted to do the same. 29 more words

India

Geedeeink_Dp

Where there is LOVE
There is LIFE~Mahatma Gandhi

Geedeeink

WHAT IS SHAMBALLA?

—Master Germain through J.A.

Shamballa is a place in time and space, or Shamballa is a number of places in time and space. When I say a number of places in time and space, I mean that in every dimensional reality there exists Shamballa.

640 more words
Personal Transformation

Book 1, Sutra 37: Patanjali's Yoga Sutra

“OR THE MIND CAN BE STEADIED BY FOCUSING ON SOMEONE WHO IS ALREADY FREE FROM ALL DESIRES.”

Patanjali listed the obstacles that can create distraction in the mind of the yogic practitioner in sutras 30-31. 304 more words

Patanjali's Yoga Sutras

The Amazing Ballad Of Bapu/ A biography in verse

<

A mammoth feat by Santosh Bakaya carried out with élan. The language and verses are a treat and the book (though seemingly simple as the lifestyle of the great man himself) is painstakingly well researched and enriched with the love in its author’s heart and in the heart of the subject. 270 more words

Poetry