Tags » Match Fixing

AIBA could hand life bans to all Rio 2016 referees and judges

All 36 referees and judges who officiated at the Rio 2016 Olympic Games could be permanently banned from officiating as part of an investigation into match-fixing, it has been reported. 394 more words

International Olympic Committee (IOC)

CHEATING AND STUPIDITY ARE NOT THE SAME

The sentences have been awarded but the debate still continues and opinions are divided over the harshness of the punishment or the leniency shown to the accused. 500 more words

CRICKET

Bancroft, Warner, Smith; forget their run scoring records, remember their cricket-criminal-records

Ball tampering and match fixing, probably the two offences that contravene the spirit of cricket above all else.

In recent years it seemed cricket was finally coming out of the dark ages, there have seemed to have been far less instances of match fixing and ball tampering of late. 912 more words

How to Buy Reliable Football Tips for Betting?

Having a bet is not an easy task it’s just an art. Earlier than doing betting player be supposed to go behind dissimilar regulations and instruction: 349 more words

मोहम्मद शमी और हसीन जहां की लड़ाई में जीत किसे मिलेगी ?

जैसा की लोग कहते हैं की सच्चाई की जीत होती है तो आईये जानते है क्या सच है और क्या झूठ ।
मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां का अपने पति पर गंभीर आरोपों के बाद अब मोहम्मद शमी मीडिया को अपनी सफाई दी है। मोहम्मद शमी ने कहा उनके ऊपर लगे आरोपों की जांच हो।
शमी के लिए ये खबर अच्छी हो सकती है की शमी को हसीन जहां के पिता मोहम्मद हसन का समर्थन मिला है।
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने मोहम्मद शमी एक बेहतरीन इंसान बताया है और ये भी बताया की वो ऐसे शख्स नहीं हैं जो पैसे के लिए अपनी पत्नी और अपने देश को धोखा दे।

उधर हसीन जहां एक के बाद एक आरोप लगाती जा रही हैं और उनके आरोपों का उनके पास पूरा साक्ष्य है, जो की कहीं से भी गलत साबित होता नहीं दिख रहा है।

अब इस मुश्किल समय में क्या मोहम्मद शमी अपने आप को सही साबित करने में सफल हो पाएंगे।
आईये जानते हैं लोगों की राय और किसे जीतता देखना चाहते हैं।

वोट करके के बतायें ?

Take Our Poll

Khas Press