Tags » Mohabbat

#81

kisi ne pucha kyu karte ho itni mohabbat jab deedar ko taras jate ho.
uske pyar ko taras jate ho..
maine bhe keh diya intezar kiya hai tabhe to pyar kiya hai. 10 more words

Hindi Sayari

Mohabbat ho jaye -2

Hum chahte hi nahi ki muhabat ho jaye,
karogi muhabat to chere pe udasi chayegi,
jo chayegi udasi tujhe,
nind na aayegi to chere pe asar aayega, 196 more words

Hindi Poem

वो भी क्या दिन थे

वो दिन भी क्या दिन थे
आसमा में बदल कुछ काम थे
नदी किनारे बैठे हम थे
और यादो में बस तुम थे,

उल्फत तो जिंदगी में थी हज़ार
वो जो चली थी बाजार,

सोचा था संग तुम्हारे हम हो ले
पुरानी यादो को-वो बातो को ताज़ा कर ले,

बस हमने मन बनाया ही था
सपनो को सजाया ही था 
की 
वालिद साहब की निगाहे हम पर पड़ी
यु दरख्तों सा बैठा देख कुछ कह ना सकी,

तभी हम थोड़ा मुस्कुराये
आँखो से आंसू बह आए
वालिद साहब कसमसाए,

थोड़ी सी हैरानी-थोड़ी सी परेशानी
उनकी आँखो से झलक रही थी
हमारी निगाहो से ना जाने कुछ कह रही थी,

परेशानियां उनकी और ना बढ़ा कर
हम संग हो लिए उनके मुस्कुरा कर

कसक तो कुछ अब भी हे
वो यादो के सहारे हम अब भी हे,

पर हो कुछ भी हम ये कभी ना भूल पाएगे
संग बिताए वो पल बड़े याद आएगे,

वो भी क्या दिन थे 
वो भी क्या दिन थे
कहते रह जाएगी |
Love

अख्ज़

वो आये तो थे रातो में
मगर
मेरी नीदों के अख्ज़ बन कर |
Love

तनहा

यु तनहा छोड़ जाने की सजा जरूर मिलेगी,

आँखो में होगे अश्क़ और खुशिया भी बहुत मिलेगी,

यु हर पल हर वक्त हमे सताने की,

यु वक्त बेवक्त हमे जगाने की,

पास रहकर दूर चले जाने की,

सजा जरूर मिलेगी
क्युकी अब यादें ही बस रहेगी
और यादें ही रहेगी |
Love

महोबत

वो आदत ही क्या छूट जाये और वो आस ही क्या जो टूट जाये
हम तो करते थे उनसे महोबत मगर ऐसी महोबत ही क्या जिसमे हम लूट जाये |
Love