Tags » Mohabbat

Barasta Baadal

BARASTA BAADAL

Ajeeb hai ye baadlon ka barasna bhi,

Khud toot kar bikhar jaatay hain boondon ki soorat mein

Aur jodh detay hain kuchh anjaan ankahay rishtay mohabbat kay. 102 more words

MOHABBAT

Jo Sheh Ka Mukhlis'o Sabit Qadam Muhib Hai Yaqeen, Rakhega Zikr Se Sheh Ki Dahan Ko Tar Apna

I have been lucky enough to be in the hazrat imamiyah of Syedna Taher Saifuddin RA and Syedna Mohammad Burhanuddin RA regularly in Mumbai, since my tender age of five-seven. 230 more words

Araz

ये कैसी मोहब्बत...

सब कुछ भूल भी जाऊं तो वो रात याद आती है,
मेरे कानों में गूंजती तेरी हर बात याद आती है,
ये नज़रें भी जा टकराई तो किससे,
होश गवां बैठा वो शरमाई कुछ ऐसे…

मेरे दिल की ना जाने किस गहराई में तू बसती है,
जब तक थी तू… अब जिंदगी खाली सी लगती है,
तू यूं ही जुड़ी रहना मेरी रूह से क्योंकि,
ये आशिकी मेरी, तेरे बिना कुछ भी नहीं लगती है.

किस खूबसूरती से इन लकीरों में तू जा बसी है,
हथेली में मानो खुदा की मूर्त दिखती है,
मेरे खुदा माफ़ी बक्श तेरे इस बंदे को,
पर आज भी उसको देख मेरी नज़रें झुकती हैं.

इन परिंदों से कह दो कि,
यूं पंख फड़फड़ा के मेरी मोहब्बत ना आजमायें,
हम उनसे दूर हुए भी तो क्या,
उनके दिल में मोहब्बत सा पाक़ एहसास अधूरा छोड़ आये.

Poems

मुजरिम...Mujarim...

My take on a very popular gazal by Jagjit ji…Lyricist Danish Aligarhi…” tere shahar ke log”…Loving someone…is it a crime…??? People prosecute without knowing…without understanding…without emotions…mercilessly…

Hindi

ABOUT LOVE...

कुछ तो रूहों का रूहों से राब्ता होता है,
मुलाकातें इत्तेफाकन नहीं होती

इश्क़ में सितारों के फैसले भी शामिल होते हैं,
मोहब्बत यूं ही सबको मयस्सर नहीं होती

Andaze Karam Hai Mere Aqa Ke Nirale, Konain Jo Mange To Kare Uske Hawale

Each time a Mumin looks at Moula, all that he/she hopes and prays for is ‘two seconds’. That’s right. ‘Aik Nazar’..

And here, I have an account to tell. 404 more words

Araz