Tags » Munger

Mentor Example: The Wisest Graduation Speech Of All Time

What if life came with a manual? An exact guide to everything you need to know about being healthy, wealthy, in love, and happy.

When I was 16 I remember thinking “Man life is hard. 3,396 more words

Charlie Munger

मुंगेर स्थित बिहार योग विद्यालय में विदेशियों ने भी किया योग।

By:VOB.

दूसरे विश्व योग दिवस के मौके पर बिहार योग विद्यालय के पादुका दर्शन परिसर सहित जिले में सौ से ज्यादा स्थानों पर सामूहिक योग कार्यक्रम आयोजित हुआ। एक साथ हजारों लोग अलग-अलग स्थानों योग कार्यक्रम में शामिल हुए। योग विद्यालय के पादुका दर्शन परिसर में योग कार्यक्रम शुरू होने के पहले स्वामी शिव ध्यानम ने अपने संक्षिप्त संबोधन में कहा कि योग को अब विश्वव्यापी मान्यता मिल गयी है।

स्वामी शिव ध्यानम ने कहा कि बिहार योग परामर्श के लिए विश्व योग दिवस विशेष महत्व रखता है। उन्होंने कहा की योग के प्रति लोगों का जुड़ाव, योग को लेकर हमारे गुरु स्वामी सत्यानंद सरस्वती की भविष्यवाणी का साकार होना दर्शाता है। स्वामी सत्यानंद ने साल 1963 में घोषित किया था कि योग परम शक्तिशाली विश्व संस्कृति के रूप में प्रकट होगा। उनकी यह भविष्यवाणी आज साकार हो रही है। उन्होंने योग अभ्यासियों से योग को जीवनशैली के रूप में अपनाने का आह्वान किया।

TOP NEWS

मुंगेर में 8 करोड़ की लागत से बने एयरपोर्ट रनवे पर बच्चे चला रहे हैं साईकिल।

By:VOB.

मुंगेर में 8 करोड़ की लागत से बना एयरपोर्ट रनवे बड़े जहाज के उतरने के लिए तैयार है लेकिन 2 महीने में रनवे की कमियां उजागर होने लगी है. लोग आज एयरपोर्ट रनवे का इस्तेमाल क्रिकेट और फुटबॉल खेलने के साथ गाड़ी सिखने के लिए कर रहे हैं. चारदीवारी और सुरक्षा के किसी प्रकार के इंतजाम नहीं होने के कारण लोग बेरोकटोक आ और जा रहे हैं. जानवरों ने इस एयरपोर्ट रनवे को चारागाह बना लिया है.

सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दो महीने पहले इस एयरपोर्ट रनवे का उद्घाटन किया था. एयरपोर्रट रनवे का जीर्णोद्धार कर इसे आधुनिक जहाज के उतरने के लिए तैयार किया गया था लेकिन राज्य सरकार और जिला प्रशासन की उदासीनता के कारण हालत खराब होने शुरु हो गए हैं.

मुंगेर पहुंचे भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष मिथलेश तिवारी ने कहा ये राज्य सरकार की लापरवाही का उदाहरण है कि इतने पैसे खर्च करने का बाद भी हवाई अड्डा को चारागाह बनने के लिए छोड़ दिया गया है.

रनवे की सुरक्षा के लिए जरूरी चारदीवारी के आभाव में रनवे का भविष्य खतरे में है. साथ ही रनवे पर उतरने वाले जहाज की सुरक्षा पर भी प्रश्न चिन्ह् खड़ा करता है. अगर हालत ऐसे ही रहे तो अगले 6 महीने में यह रनवे आधुनिक जहाज उतरने के लायक नहीं रह सकेगा.

जब जिलाधिकारी उदय कुमार सिंह से इस वाबत पूछा गया तो उन्होंने भी माना की चारदीवारी के अभाव में हवाई अड्डा की ऐसी स्थिति है. इसको लेकर राज्य सरकार को अवगत करा दिया गया है और जल्द ही चारदीवारी का निर्माण कर हवाई अड्डा को सुरक्षित कर दिया जायेगा.

TOP NEWS

बिहार :मुंगेर में डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन परीक्षा में खुद ही नकल करते दिखे टीचर्स।

By:VOB.

रिजल्ट घोटाले और टॉपर्स विवाद अभी थमा नहीं है कि परीक्षा में नकल का एक और वीडियो वायरल हुआ है। यह वीडियो छात्रों के परीक्षा में नकल करने का नहीं है बल्कि इस वीडियो में खुद गुरुजी ही परीक्षा में नकल करते नजर आ रहे हैं।

अब बात यह है कि अगर शिक्षक ही परीक्षा में नकल करे तो स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य क्या होगा, ये अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है। दरअसल, मुंगेर में बुधवार को डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन पार्ट वन की परीक्षा चल रही है। इस परीक्षा में देश और राज्य का भविष्य तैयार करने वाले सरकारी शिक्षक ही चोरी करते कैमरे में पकड़े गए हैं।

मुंगेर जिले के पुरबसराय स्थित जिला शिक्षा एवं परीक्षण संस्थान में डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन पार्ट वन की परीक्षा चल रही थी। इस परीक्षा में 48 शिक्षक और शिक्षका परीक्षा दे रहे हैं। वहीं, जब परीक्षा केंद्र पर कैमरे के सामने आने के बाद परीक्षा केंद्र में परीक्षा दे रहे शिक्षक अपने चिट-पुर्जे और किताब छिपाने लगे।

वहीं, कोई वीक्षक भी परीक्षा हॉल में नहीं दिखा। जब वीक्षक को मीडिया की आने की जानकारी हुई तो दस मिनट के बाद वे परीक्षा केंद्र के हॉल में पहुंचे। जब उनसे परीक्षा सेंटर पर नकल होने की बात पूछी गई तो उन्होंने कहा कि यहां कोई नकल नहीं हो रही है।

जब मीडिया ने उन्हें परीक्षा दे रहे शिक्षक के पास किताब को दिखाया तो वीक्षक हैरान हो गए और जब परीक्षा दे रहे शिक्षकों को सर्च किया गया तो सर्च के दौरान कई शिक्षकों के पास से चिट-पुर्जे किताबें भी मिलीं।

वही, शिक्षण संस्थान के प्रिंसिपल साईंदा से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर कोई भी परीक्षा में नकल करेगा तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इस बात का असर दिखा कि आज हो रही इस परीक्षा में पूरी सावधानी बरती जा रही है। वहीं जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा है कि मामले की जांच की जाएगी और दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

TOP NEWS

बिहार :मुंगेर प्रवास पर आये महामहिम राज्यपाल ने की शक्तिपीठ चंडिका स्थान में पूजा।

By:VOB.

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने मुंगेर प्रवास के दूसरे दिन सोमवार को शक्तिपीठ चंडिका स्थान में पूजा अर्चना की। साथ में श्रीमती कोविंद भी थीं। राज्यपाल इस शक्तिपीठ की महत्ता से अवगत हुए। उन्होंने तीर्थयात्रियों के लिए बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की जरूरत बताई। शक्तिपीठ के पुजारी नंदन बाबा और अन्य ने राज्यपाल से शक्तिपीठ चंडिका स्थान को धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग की।

इस मौके पर चंडिका स्थान न्यास समिति के शिव कुमार रूगंटा के साथ ही गोपाल शर्मा, कुंदन कुमार सिंह, अनिल महाराज, भाष्कर पंडा, अजय प्रसाद सिंह, गजेन्द्र पंडा आदि थे। रविवार को योग विद्यालय पहुंचने पर बाल योग मित्र मंडल के बच्चों ने राज्यपाल का स्वागत किया। राज्यपाल ने योग विद्यालय में हवन-कीर्तन में भाग लिया। युवा योग मित्र मंडल के सदस्यों के आसन-प्राणायाम को देखकर वे अभिभूत हुए।

स्वामी निरंजनानंद सरस्वती ने राज्यपाल को योग विद्यालय कीस्थापना से लेकर अबतक की गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस योग विद्यालय की देश में ही नहीं विदेशों में भी 100 से अधिक शाखाएं हैं। स्वामी निरंजन ने राज्यपाल को बताया कि बाल योग मित्र मंडल के बच्चों ने जेल में बंद कैदियों और अस्पताल में बीमार लोगों को योग का प्रशिक्षण दिया है। इसके सकारात्मक रिजल्ट आए हैं।

राज्यपाल ने कहा कि उन्हें दूसरी बार योग विद्यालय आने का मौका मिला है। योग विद्यालय के कारण मुंगेर विश्व में योग नगरी के नाम से जाना जाता है।

TOP NEWS

बिहार :मुंगेर पहुंचने पर बोले राज्यपाल- बिहार की धरोहर है कृष्ण सेवासदन।

By:VOB.

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने कहा कि श्रीकृष्ण सेवासदन मुंगेर ही नहीं बिहार की धरोहर है। इसके सरंक्षण के लिए सरकार को गंभीर होने की जरूरत है। राज्यपाल श्री कोविंद रविवार को कृष्ण सेवासदन पुस्तकालय का अवलोकन कर रहे थे। वे दो दिवसीय योग विद्यालय प्रवास कार्यक्रम के तहत रविवार को हेलीकॉप्टर से मुंगेर पहुंचे।

राज्यपाल सुबह 11.30 बजे स्थानीय पोलो मैदान में बनाए गए हेलीपैड पर उतरने के बाद 12 बजे श्रीकृष्ण सेवासदन पहुंचे। सेवा सदन की कृष्ण वाटिका में श्रीकृष्ण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद उन्होंने सेवासदन पुस्तकालय का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने सेवासदन न्यास पार्षद एवं सेवासदन पुस्तकालय समिति के सदस्यों से बातचीत में इस पुस्तकालय की तुलना पटना की खुदाबक्श लाइब्रेरी से की।

यहां संग्रहित दुर्लभ पुस्तकों की चर्चा करते हुए राज्यपाल ने सेवासदन पुस्तकालय को संवारने की आवश्यकता जताई ताकि नई पीढ़ी को इसका अधिक से अधिक लाभ मिल सके। अवलोकन के दौरान श्रीमती कोविंद भी उनके साथ मौजूद थीं। इस मौके पर सेवासदन पुस्तकालय समिति के अध्यक्ष सह प्रंमडलीय आयुक्त आरएल चोग्थू, डीआईजी वरुण कुमार सिन्हा, डीएम उदय कुमार सिंह, एसपी आशीष भारती, न्यास पार्षद के सचिव प्रभात कुमार, सेवासदन पुस्तकालय के सचिव सह डीईओ केके शर्मा आदि मौजूद थे।

TOP NEWS