Tags » Muslim Personal Law

Why not Four Spouses for Muslim Women

केरल हाईकोर्ट के जज जस्टिस बी कमाल पाशा ने एक सेमिनार में बोलते हुए सवाल उठाया कि अगर मुस्लिम पर्सनल लॉ के नाम पर मुस्लिम पुरूष चार पत्नियां रख सकते हैं तो महिलाएं इसी कानून को मानते हुए चार पति क्यों नहीं रख सकती।

कोझिकोड़ा में महिला वकीलों द्वारा आयोजित किए गए सेमिनार में बोलते हुए जस्टिस पाशा ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ काफी हद तक महिलाओं के खिलाफ है। उन्होंने आरोप लगाया कि धार्मिक गुरूओं ने पुरूषों के वर्चस्व के लिए इस तरह के कानून बनाए हैं। उन्होंने ये भी कहा कि धार्मिक चर्चाओं के दौरान इस तरह के संवेदनशील मुद्दों पर पुर्नविचार करना चाहिए।@ http://goo.gl/ONtg9L

Latest Hindi News

Why not four spouses for Muslim women too, asks Kerala HC judge

Kerala high court judge Justice B Kamal Pasha stirred a hornet’s nest on Sunday by asking why Muslim women could not have four husbands while the men enjoyed the same privilege under the Muslim personal law. 149 more words

International