Tags » Positive Thinking

Monday Motivation

I know going back to work after a holiday or vacation is more rough. Just remember that you got this! You are awesome!

I will be traveling on my way home today. 9 more words

क्या है सकारात्मक सोच

आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में जहाँ समय और सुकून की कमी है वहीँ इसके बावजूद लोग अपनी जिंदगी को भौतिक सुख सुविधाओ से परिपूर्ण करना चाहते हैं, लेकिन जब लोगो की इच्छायें, उनकी ख्वाहिशें पूरी नहीं होती तो वे नकारात्मकता के शिकार हो जाते हैं |

अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए, अपने भविष्य को सँवारने के लिए हम में से लगभग सभी मेहनत करतें हैं | ज्यादातर लोग एक बेहतर मुकाम पाने के लिए लक्ष्य बनातें हैं | तथा सपने देखते हैं लेकिन सिर्फ कुछ लोग ही अपनी मंजिल पाते हैं | लोग अपने सपनों को पूरा करनें के लिए प्रयास तो पुरे उत्साह के साथ शुरू करतें हैं | लेकिन जरा सी मुश्किलें आते ही उनका उत्साह कम हो जाता है और वो प्रयास करना छोड़ देते हैं | और जो लोग अन्त तक पुरे उत्साह और दृढ़ता के साथ लगे रहते हैं वो अपनी – अपनी मंजिल को प्राप्त करते हैं अपने सपनों को पूरा करतें हैं |

यहाँ हम दो तरह के लोगो को देखते हैं –

1. वो जिन्होंने प्रयास करना छोड़ दिया और दूसरे वो जिन्होंने अन्त तक प्रयास किया और अपने लक्ष्य को प्राप्त किया |

“क्या फर्क है इन दोनों तरह को लोगों में”

इनमें फर्क है इनकी सोच का | इनमें प्रयास करना छोड़ने वालों की सोच नकारात्मक है और अन्त तक प्रयास करनें वालों को सोच सकारात्मक है |

जिन लोगों की सोच नकारात्मक होती है वे जरा सी समस्या होनें पर अपने प्रयासों को अधूरा छोड़ देतें हैं और अलग – अलग बहाने बनाते हैं कि मेरी किस्मत खराब है, मेरे पास पैसा नहीं है, मेरे पास समय नहीं है, मैं अकेला था, मुझे किसी ने सपोर्ट नहीं किया, मैंने तो कोशिश की थी लेकिन वो चीज मेरी किस्मत में ही नहीं है, आदि आदि |

इससे अलग सकारात्मक सोच वाले कभी बहाने नहीं बनाते | चाहे कितनी भी मुश्किलें आयें कितनी भी समस्यायें आयें वो हर समस्या का दृढ़ता से सामना करतें हैं और जब तक अपने कार्य में सफल नहीं हो जाते हैं तब तक प्रयास करते रहते हैं | और अन्त में जीत जाते हैं |

“हो सकता है” और “नहीं हो सकता है” में सिर्फ एक शब्द का अंतर है और ये ही शब्द आपके जीवन की दिशा निर्धारित करता है | अगर आप सोचतें हैं कि आप उस कार्य को कर सकते हैं तो अप कर सकते हैं और अगर आप सोचतें हैं की आप वाकई नहीं कर सकते हैं  और दोनों की दशाओं में आप सही हैं | एक तरीका नकारात्मक है और दूसरा सकारात्मक | अब आपको तय करना है की आपको किस तरीके का चयन करना है |

एक पेड़ से लाखों माचिस की तिल्लियां बनायीं जा सकती हैं लेकिन एक तिल्ली लाखों पेड़ों को जला देती है | उसी प्रकार एक नकारात्मक विचार आपके हजारों सपनों को जला सकता है |

हर चीज को, हर मुश्किल को, हर समस्या को सकारात्मक के साथ देखिये फिर आप देखेंगें कि आपने अपनी समस्याओं का हल निकाल लिया है | और फिर आप अपने मंजिल को पा लेंगें |

क्योंकि एक बार जब आप अपने नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों में बदल देंगें तब आपको सकारात्मक नतीजें मिलने शुरू हो जायेंगे |

सकारात्मक सोच वाला व्यक्ति हर मुश्किल का सामना कार लेता है, हर समस्या का समाधान कर लेता है और अन्त में अपनी मंजिल को पा लेता है |

इसलिए नकारात्मक विचार छोड़िये और सकारात्मक विचार अपनाइए |

Positive Thinking

Hire me please??

Since moving to Ashburton I have applied for more jobs than I can to remember, and I am now so used to rejection emails, that I don’t really know how I will react to a positive one… 498 more words

Blogging

एक प्रयास - जीवन में बदलाव लाने के लिए

Dear Friends,

आज मैंने अपना एक Blog शुरू किया है Gyanversha, इस ब्लॉग पर मैं Positive Thinking, Motivational Stories, Personal Development, Self Confidence, Relation आदि पर लेख लिखा करूँगा |इन सभी चीजो में मेरा बहुत पहले से interest रहा है |और इनसे related बहुत सारी किताबें , Websites and Blogs को नियमित रूप से पढता हूँ | और इससे मुझे बहुत फायदा हुआ है और कह सकता हूँ कि वाकई मेरे जीवन में बदलाव आया है |

दोस्तों आजकल के युवाओ में Negative Thinking बहुत ज्यादा है (पहले मेरे अन्दर भी होती थी ) जिसके कारण वे अक्सर छोटी छोटी बातो पर भी Tension  ले लेते हैं और फिर बिना अंजाम सोचे या तो वो खुद को नुक्सान पहुंचाते हैं या फिर दूसरो को नुकसान पहुंचाते हैं जिससे उनका भविष्य बर्बाद हो रहा है या उनके लक्ष्य और सपने टूट कर बिखर रहे हैं |

कुछ लोग होते हैं जो इन सब चीजो से उबर जाते हैं लेकिन कुछ लोग टूट कर बिखर जाते हैं|

मैं अपने अनुभव के आधार पर ऐसे लोगो के लिए अपने इस blog पर कुछ ऐसे लेख लिखूंगा जिन्हें पढ़कर लोगो की सोच में और उनकी मानसिकता में कुछ बदलाव आएगा और वो अपने जीवन को बेहतर बना सकेंगे |

दोस्तों अगर मेरे इस प्रयास से किसी एक के भी जीवन में बदलाव आ गया तो मैं अपने इस प्रयास को सफल समझूंगा |

आप सभी को एक बेहतर जिंदगी की शुभकामनाये देते हुए………………………

आपके सहयोग की आशा में.                 आपका   (पुष्पेन्द्र कुमार सिंह)

Positive Thinking

PATIENCE

THINGS IN LIFE DON T ALWAYS COME AS EXPECTED, BUT IF YOUR INTENTIONS ARE THERE AND REAL , THEY WILL HAPPEN AS LONG AS YOU BELIEVE IN YOUR DREAM AND YOURSELF. BE PATIENT AND STAY POSITIVE

POSITIVE THINKING

Quarter-Life Crisis?

I was farewelling a friend the other night and one girl mentioned “quarter-life crisis”, which then keeps popping up from the back of my head… 391 more words

Inspiration