Tags » Rajnath Singh

Relaxing AFSPA now in Kashmir will be a historic blunder

When the Home Minister of India, Rajnath Singh on Thursday, July 2, said that the time is not conducive to lift the Armed Forces Special Powers Act (AFSPA) in Kashmir, he has a valid point. 41 more words

Vicky Nanjappa

Governor summoned to Delhi?

Governor summoned to Delhi?

Home minister Rajnath Singh has summoned Governor Narasimhan to New Delhi today. Hence, he will be leaving………………….Read More………

Religious Fervour At Sri Anandpur Sahib

Sri Anandpur Sahib witnessed a sea of pilgrims from 17th to 19th June, across the globe to mark the 350th anniversary celebrations. The town, referred as the ‘city of bliss’, was founded in 1665 by ninth Sikh Guru, Guru Teg Bahadur. 583 more words

The Tribune - 350th Anniversary of Anandpur Sahib; religion, politics get new flavour

Jupinderjit Singh & Arun Sharma, Tribune News Service

Chandigarh, 19 June 2015. Deprived of much of its political sheen following Prime Minister Narendra Modi’s absence, the high-profile congregation of Akali-BJP leaders marking the 350th foundation day of Anandpur Sahib today was more of a symbolism about the strained alliance partners than anything concrete for Punjab. 536 more words

News

Rajnath Singh refuses to respond on vote-for-note case!

Rajnath Singh refuses to respond on vote-for-note case!

Union Home Minister Rajnath Singh has refused to make any comment or to respond on the vote-for-note case that leads to a serious…………...Read More…………..

जानें: कौन हैं ललित मोदी और क्या है सुषमा-ललित का पूरा विवाद

प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी के आरोपी और आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की मदद करने के आरोप में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विवादों में घिर गई है. सुषमा पर ललित मोदी को ब्रिटेन से बाहर यात्रा करने के लिए वीजा दस्तावेज बनाने में मदद का आरोप लगा है.

सुषमा ने जिस वक्त ललित मोदी की मदद की तब प्रदर्शन निदेशालय उन्हें टी-20 क्रिकेट मामले में फेमा के उल्लंघन को लेकर ललित मोदी को तलाश रहा था. तब ललित मोदी लंदन में ही थे और ब्रिटिश सरकार भारत से संबंध खराब होने की आशंका से उन्हें वीजा जारी करने में हिचकिचा रही थी. तब सुषमा ने ब्रिटिश हाईकमीशन और ब्रिटिश सांसद कीथ वाज से बात की थी.

लेकिन आप यहा जानिए कि कौन हैं ललित मोदी और उनपर क्या आऱोप लगे हैं.

  • कभी ललित मोदी भारतीय क्रिकेट की ताकतवर शख्सियत हुआ करते थे.
  • राजस्थान के उद्योगपति ललित मोदी बीसीसीआई में साल 2005 से 2010 तक उपाध्यक्ष रहे.

  • देश में आईपीएल के जन्मदाता भी ललित मोदी थे

  • ललित मोदी 2008 से 2010 तक आईपीएल के चेयरमैन और कमिश्नर रहे

  • ललित मोदी राजस्थान क्रिकेट संघ के अध्यक्ष भी रहे

  • साल 2010 में ललित मोदी पर आईपीएल संचालन में पैसों की गड़बड़ी का आरोप लगा

  • ललित मोदी पर आरोप लगा कि उन्होंने दो नई टीमों की नीलामी के दौरान ग़लत तरीक़े अपनाए

  • ललित मोदी ने मॉरीशस की कंपनी वर्ल्ड स्पोर्ट्स को आईपीएल का 425 करोड़ का ठेका दिया था जिसमें उनपर 125 करोड़ कमीशन लेने का आरोप लगा

  • साल 2010 में ही आईपीएल के बाद ललित मोदी को आईपीएल कमिश्नर के पद से निलंबित कर दिया गया.

  • गड़बड़ी के आरोपों के बाद ललित मोदी ब्रिटेन चले गए थे तब से वो वहीं रह रहे हैं.

आपको बता दें कि इस मामले में ये बात भी सामने आई है कि जब सुषमा स्वराज लोकसभा में विपक्ष की नेता थीं तो उन्होंने अपने एक रिश्तेदार का ब्रिटेन में एडमिशन करवाने के लिए ललित मोदी की मदद ली थी. आरोप लग रहे हैं कि इसी काम के बदले सुषमा ने ललित मोदी की मदद की है.

सुषमा स्वराज की सफाई
सुषमा स्वराज ने ट्वीट में कहा, ”जुलाई 2014 में ललित मोदी ने मुझसे बात की और कहा था कि उनकी पत्नी को कैंसर है और सर्जरी के लिए वह चार अगस्त को पुर्तगाल जाना चाहते हैं. उन्होंने मुझे बताया कि हॉस्पिटल में उन्हें पेपर पर हस्ताक्षर करने के लिए वहां मौजूद रहना होगा.

ललित ने मुझे बताया कि उन्होंने लंदन में ट्रैवल डॉक्युमेंट्स के लिए अप्लाई किया है और ब्रितानी सरकार यात्रा दस्तावेज देने के लिए तैयार है लेकिन यूपीए सरकार के एक सर्कुलर की वजह से वह ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि इससे भारत-ब्रिटेन संबंधों पर असर पड़ेगा. मैंने मानवीय आधार पर ब्रिटेश हाई कमिश्नर से कहा कि मोदी की अपील की जांच करें और अगर मोदी को ब्रिटेन इजाजत देता है तो इससे दोनों देशों के संबंधों पर असर नहीं पड़ेगा. कुछ दिन बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने ललित मोदी का पासपोर्ट जब्त करने की याचिका भी खारिज कर दी थी. इसी संबंध में मैने यूके के सांसद कीथ वॉज से भी बात की थी. ज्योर्तिमय कौशल का ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी में एडमिशन एक साल पहले ही हो चुका था.”

सुषमा के साथ सरकार
विपक्ष ने इस मामले पर सुषम स्वराज से इस्तीफे की मांग की है. लेकिन मोदी सरकार पूरी तरह सुषमा के साथ खडी है. सरकार की तरफ गृह मंत्री राजनाथ ने कहा कि सुषमा ने मानवीय आधार पर किसी की मदद करके कोई गलती नहीं की है.

News Of The Day