Tags » Seva

Westin Singles Charity Ball For The Blind

This past Saturday night, I had the pleasure of attending the Singles Charity Ball at the Westin San Francisco Hotel, with my friend Marcus. The tickets to this event were $20 in advance and $30 at the door, and the proceeds from the ticket sales go to help the… 336 more words

Causes

Kavya

A Year Ago,we started an Unknown Ride
Which would take us Spiritually to new heights

With Fortune And Mercy combined
We heralded a new day in Our life… 131 more words

Memories

What is a Safe Conspiracy Theory?

What’s your favorite? Does it involve black ops or ‘beings’? Bet it might involve murder. Mine does. And it always makes my ears “perk up” at odd moments during news cycles or conversations. 594 more words

Service to Others

This is the third article in the series, “The 12 Healing Tools“. These articles outline the things that I have found most useful in my journey to overcome childhood trauma and abuse, drug addiction, and debilitating depression. 490 more words

12 Healing Tools

इस रेस्टोरेंट में जितना मर्जी उतना खाएं , नहीं चुकाना पड़ेगा बिल

डिजिटल डेस्क, गुजरात।  हमारे देश में कुछ कुछ ऐसे रेस्टोरेंट हैं जहां खाना खाने के लिए आपको पैसे नहीं देने पड़ेंगे। खास बात तो ये है कि ये रेस्टोरेंट स्वादिष्ट और अच्छी क्वालिटी का भोजन देते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही रेस्टोरेंट के बारे में बताने जा रहे है, जिसका नाम सेवा कैफे है। आज पूरी दुनिया पैसे और धंधे के पीछे भाग रही है, वहीं मानव सदन, ग्राम श्री और स्वच्छ सेवा जैसे एनजीओ मिलकर सेवा कैफे चला रहे हैं। ये सेवा कैफे गिफ्ट इकॉनमी के मॉडल पर काम करता है। गिफ्ट इकॉनमी का मतलब होता है कि ग्राहक अपनी इच्छानुसार पे करते हैं। किसी भी आर्डर के लिए ग्राहक को कोई बिल नहीं चुकाना पड़ता।

गिफ्ट इकॉनमी के मॉडल पर  काम

अहमदाबाद में सेवा कैफे पिछले 11-12 वर्षों से लगातार चल रहा है। सेवा कैफे में ग्राहकों पर निर्भर करता है कि वह सेवा कैफे में भोजन के बाद पैसे देना चाहते हैं या नहीं। सेवा कैफे गिफ्ट इकॉनमी के मॉडल पर  काम कर रहा है। गिफ्ट इकॉनमी का मतलब है कि खाना खाने के बदले में ग्राहक अपनी इच्छा के मुताबिक पैसे दे सकता है। सेवा कैफे गुरुवार से रविवार तक शाम 7 बजे से लेकर रात 10 बजे तक खुला रहता है। इसका लक्ष्य रहता है कि इन तीन घंटों में 50 लोगों को भोजन करा दिया जाए।

इस सेवा कैफे के संचालक की मानें तो इसको वालंटियर्स मिलकर चलाते हैं। खाना खिलाने के बदले में यहां के वालंटियर्स ग्राहकों से किसी भी तरह का बिल नहीं लेते हैं बल्कि वो गिफ्ट इकॉनमी को आगे बढ़ाने पर ही जोर दे रहे हैं। अगर आप भी बिना बिल पे किए भरपेट खाना खाने का आनंद उठाना चाहते हैं तो फिर सेवा कैफे में एक बार जरूर जाइए और यहां के फ्री लंच और डिनर का लुत्फ लें।

Source: Bhaskarhindi.com

News Paper Hindi

Purpose=Heaven=Karma Yoga (Purpose- 1.2.18)

Guiding Thought

Today, erase all you think you know of your Inner Divine Mind. You are changing. You are changed. All is new. With a blank slate of pure luminescence, wait, simply feeling your inner glow. 384 more words

Being

A Different Dimension of Mohanji

Written by Biljana Vozarevic

On 23rd February is Mohanji’s birthday and a very auspicious day for selfless actions, charity, helping the needy, then spiritual practices, prayers, chanting and connecting to the Highest. 842 more words

Mohanji