Tags » Slum

REACHING OUT TO THE PEOPLE OF KIBERA

WHENEVER ABJECT POVERTY is discussed in the context of community and social condition, the Kibera slum in Kenya will never be forgotten to be mentioned. This slum is considered the biggest and poorest urban slum in Africa ( 638 more words

Articles

एैसे नौनिहालों का क्या भविष्य, आखिर कौन है जिम्मेदार?- अनन्या श्रीवास्तव

बचपन हर इंसान की जिंदगी का सबसे हसीन पल होता है। न किसी बात की चिंता न ही कोई जिम्मेदारी। खेलना-कूदना, पढ़ना और अपनी मस्तियों मंे खोये रहना बस यही है इस मासूम बचपन की कहानी। पर यह जरुरी नही की सभी का बचपन इतनी खुशनसीबी से भरा हो।

हाल ही में लखनऊ स्थित टेढ़ी पुलिया के पास विनायक पुरम् नाम की मलिन बस्ती पर नजर पड़ी तो वहाँ की परिस्थिति देखकर बहुत ही दःुख हुआ। खासतौर से वहाँ के बच्चों को देखकर, जिन्हें शिक्षा और खेल के बीच जीवन जीना चाहिये वो गरीबी की मार झेल कर घर के चूल्हे-चैके और मजदूरी मंे अपना सुनहरा बचपन बिता रहे है। चार सौ से अधिक झोपड़ पट्टीयों वाली इस बस्ती मंे ंमुिश्कल से कुछ ही बच्चे स्कूल जाते हैं और ज्यादातर घर के बच्चे चूल्हे चैके या फिर मजदूरी मे लगे रहते हैं क्योंकि इनके माता -पिता अपने जीवन यापन के लिए तो पैसा कमा नहीं पाते वो भला इनकी शिक्षा का खर्च कैसे उठाएंगे? इस फोटो को देख आपको छह साल की चिंकी पर तरस आ जायेगा। इस उम्र में उसके हाथों में खिलौने होने चािहये थे , लेिकन वो घर के कामों मे इस तरह व्यस्त है मानो इस घर की जिम्मेदारी का बोझ चिंकी पर हो । दरअसल इसके माँ- बाप दोनों ही काम पर निकल जाते हैं और चिंकी अकेले घर का पूरा काम करती है। क्या उसका मन नही होता होगा कि वो भी और बच्चों की तरह बेपरवाह होकर खेले – कूदे और पढ़ाई करे वैसे यह कहानी सिर्फ चिंकी की ही नही उसके जैसे और भी कई बच्चों की है। ठीक ही कहा है किसी शायर ने ‘‘गरीबों की ये बस्ती है कहाँ से शोखियाँ लाऊँ यहाँ बच्चे तो रहते है मगर बचपना नही रहता’’। वैसे हमारी सरकार ने आठवीं तक की शिक्षा को आनिवार्य और निःशुल्क कर दिया है लेकिन लोगांे की गरीबी और बेबसी के आगे यह योजना भी निष्फल साबित होती दिखाई दे रही है। वहीं गरीबी मिटानें के नाम पर भारत मे बहुत सारी योजनाएँ भी है। इन सारी योजनाओं पर कई लाख करोड़ रू खर्च हो चुके है पर इससे गरीबी नही मिटी। वैसे सिर्फ सरकार ही नहीं बल्कि आम जनता को भी इस अभिशाप को दूर करने मे सहभागिता निभानी चािहये। हर एक व्यक्ति जो आर्थिक रुप से सक्षम हो अगर ऐसे एक बच्चे की भी जिम्मेदारी ले ले तो सारा परिवेश ही बदल सकता है और तब हम अपने देश के लोकतंत्र को सफल कर पायेंगे।

MVMI

Open Drains Causes Dengue Epidemic in Mumbai Locality

Mumbai, Dec. 26: More than 37 cases of Dengue and other mosquito borne diseases were recorded in the Kokan Nagar, Ashok Nagar and Vijay Nagar areas of Chembur in Mumbai in 2017, according to the municipal clinic of the locality. 742 more words

BMC

Dancing escape

I can imagine there are lots of young girls in prosperous nations whose parents enroll them in dance classes that they then complain about, because complaining is endemic amidst great prosperity. 282 more words

Culture

Slums, What are they?

Today I was Reading a really good article about slums and slum tourism that really got into my mind and I thought that slums are an important issue I haven’t talked about. 547 more words

Development

How lack of affordable housing effects my health.

A little bit about my condition

I am 26 years old, and I live in Frederick MD. I am suffering from PTSD. I receive a monthly $750 SSI disability pension and $175 as SNAP or “food stamps” benefits. 2,172 more words

PTSD

Friday Fictioneers - City Life

Every week, Rochelle Wisoff-Fields (thank you, Rochelle!) hosts a flash fiction challenge, to write a complete story, based on a photoprompt, with a beginning, middle and end, in 100 words or less. 178 more words

Friday Fictioneers