Tags » Usha Mangeshkar

Na re na re baabu

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 373 more words

Yearwise Breakup Of Songs

Hamen ye duniya waale pyaar ka ilzaam dete hain

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 412 more words

Yearwise Breakup Of Songs

Chali chali matwaali hawaa

This article is meant to be posted in atulsongaday.me. If this article appears in sites like lyricstrans.com and ibollywoodsongs.com etc then it is piracy of the copyright content of atulsongaday.me and is a punishable offence under the existing laws. 323 more words

Yearwise Breakup Of Songs

खुली-खुली ज़ुल्फ़ों को बाँध भी लो - Khuli Khuli Zulfon Ko (Banarsi Thug)

फ़िल्म: बनारसी ठग / Banarsi Thug (1962)
गायक/गायिका: मुकेश, ऊषा मंगेशकर?
संगीतकार: इकबाल कुरेशी
गीतकार: अज़ीज कैसी
अदाकार: मनोज कुमार, आई. एस. जौहर, विजया चौधरी

खुली-खुली ज़ुल्फ़ों को बाँध भी लो
हो जाए न दुनिया में शाम कहीं
(यूँ न देखो) – 2 तुम मुझको
हो जाएं न हम बदनाम कहीं

आँखें क्यों झुकने लगी हैं आँचल क्यों ढल जाता है
कुछ तो बताओ ऐ जादूगर ये जादू क्यों चल जाता है
(भोली) – 3 बातें छोड़ भी दो
हो जाए न बातें ये आम कहीं
यूँ न देखो…

जाम चुराकर इन आँखों के आज नशे में चूर हूँ मैं
चोर नहीं मैं जान-ए-तमन्ना आदत से मजबूर हूँ मैं
(चोरी) – 3 की ये बात करो न आ जाए न कोई इल्ज़ाम कहीं
खुली-खुली ज़ुल्फ़ों…

जान तुम्हारे बस में कर दी दिल नज़राना दे डाला
तुम भी सनम क्या याद करोगे हमने क्या-क्या दे डाला
ऐ जी हमपे ना एहसान करो हो जाएं न हम नीलाम कहीं
यूँ न देखो…

1960s

एक बात पूछता हूँ - Ek Baat Poochhta Hoon (Banarsi Thug)

फ़िल्म: बनारसी ठग / Banarsi Thug (1962)
गायक/गायिका: मुकेश, ऊषा मंगेशकर?
संगीतकार: इकबाल कुरेशी
गीतकार: अख्तर वारिस लखनवी
अदाकार: मनोज कुमार, आई. एस. जौहर, विजया चौधरी

एक बात पूछता हूँ
हूँ
गर तुम बुरा न मानो
ना
एक बात पूछता हूँ
हूँ
देखा कहीं है तुमने दिल मेरा खो गया है
मेरा ही हो के मुझसे नाराज़ हो गया है – 2
बोलो तो ढूँढ लूँ मैं
हूँ
गर तुम बुरा न मानो
ना

एक बात पूछती हूँ
हूँ
कैसा है दिल तुम्हारा फिरता है मारा-मारा
बेदिल तुम्हें बनाकर खुद हो गया आवारा – 2
समझा के भेज दूँ मैं
हूँ
गर तुम बुरा न मानो
ना
एक बात पूछता हूँ
हूँ

नाराज़ है ये तुमसे रहने दो पास मेरे
जाता नहीं बेचारा घर से निकालूँ कैसे – 2
दिल कैसे तोड़ दूँ मैं
हूँ
गर तुम बुरा न मानो
ना
एक बात पूछता हूँ
हूँ

1960s

बनारसी ठग - All Songs of Banarsi Thug (1962)

फ़िल्म: बनारसी ठग / Banarsi Thug (1962)
गायक/गायिका: मुकेश, ऊषा मंगेशकर?
संगीतकार: इकबाल कुरेशी
गीतकार: अख्तर वारिस लखनवी
अदाकार: मनोज कुमार, आई. एस. जौहर, विजया चौधरी 8 more words

1960s

Saanjh bhayee jhaanjh bhed jiyara ke khole re

This article is written by Bharat Upadhyay, a fellow enthusiast of Hindi movie music and a contributor to this blog. This article is meant to be posted in atulsongaday.me. 457 more words

Yearwise Breakup Of Songs