Tags » Want

Reflections on the Past Week: 1/8/2017

It feels strange to make what you love doing as a career. You simultaneously want and are obligated to do work. Wanting to do work is sort of constant; your enthusiasm for it never really changes. 485 more words

Random

some call me the poet
maybe some the writer
or the monk
yet all i want is floating
on words
submerge
not having been sunk

Online Readers Want Content - Not Outlines That Look Like a Cub Scout Meeting Agenda!

If you are a serious online article marketer, or an online article writer then you know one way to write more content, more consistently to improve your volume and quantity of articles is to use various templates, and formats to help you with this process. 14 more words

सच्चे दिल से |

कल तुम्हे देखा था मैने |
कुछ इस नज़र से |
जैसे चाहने लगा हूँ तुम्हे |
सच्चे दिल से |
तुम्हारे चेहरे से झलकती मासूमियत |
मुझे खींचती है तुम्हारी ओर |
तुम्हारे होठों का सिसकना |
मुझे ले जाता है तुम्हारी ओर |
भूल जाता हूँ मैं सारे ग़म |
मैं और तुम अब बन जाए “हम” |

चेहरे पे असमंजस है ,
पर दिल मे कुछ और है |
ज़बान कुछ कहती है ,
पर आँखों मे कुछ और ही है |
साफ झलकता है प्यार ,
तुम्हारी आँखों से |
होठों की कश्मकश वो बताती है,
जो महसूस करती हो तुम…
अपने दिल की धड़कनो मे |

जब तुम पास रहती हो,
अछा लगता है |
दूर जाने की बात करके तुम,
मुझे क्यूँ सताती हो |
रूको कहो अपने दिल की |
सुन लो कुछ…
मेरे भी दिल की |
तुम्हारी नज़र कहती है,
मैं तुम्हारा हूँ |
मैं कहता हूँ की…
तुम मेरी हो |
तुम चाहती हो इस कदर से |
पर रोकती हो दिल को अपनी ज़ुबान से |
अब खेलना बंद करो |
कहना है जो सो कह दो |
रोको न खुद को मुझसे |
क्यूंकी…
चाहता हूँ मैं तुम्हे |
सच्चे दिल से…
सच्चे दिल से…

– Ashish Kumar

Ashish Kumar

Reds and blues.

Tomorrow is another day,
One which I want to share with you.
No more living in shades of grey,
Or under the influence of blue, blue, blue. 71 more words

Her. A puzzle 

Two sided


Light, sometimes darker than moonless nights


Even so


Everything he wanted.


Tough to understand


Loving her isn’t easy too


Everything he wanted.


Any day everyday… 16 more words

Life

Nights

nights of endless waiting

now I know that all I wanted
already lived in me

Poetry